तेहरान. डॉलर के मुकाबले ईरानी रियाल की कीमत शनिवार को 1,12,000 तक पहुंच गई. यह आज तक का रिकॉर्ड है जब ईरानी रियाल की कीमत इतनी गिर गई हो. शनिवार को बाजार खुलने के वक्त 1 अमेरिकी डॉलर की कीमत 98,000 रियाल थी लेकिन शाम तक ईरानी रियाल की कीमत 1 लाख 12 हजार पहुंच गई. जानकारों की मानें तो यह सब अमेरिकी प्रतिबंधों और आर्थिक संकट की वजह से ईरान की करेंसी में गिरावट आ रही है.

बता दें ईरानी करेंसी में ये गिरावट बीते चार महीनें में दर्ज की गई है. मार्च में रियाल 50,000 के नीचे पहुंच गया था और अप्रेल में तमाम कोशिशों के बाद करेंसी को स्थिरता आई और इसकी दर 42000 हो गई. ईरान में कालाबजारी करने वालों पर सख्ती भी बरती गई थी. लेकिन बीते दिनों में ईरान की करेंसी अपने रेकॉर्ड लो स्तर पर पहुंच गई है. इस उलटफेर के बीच ईरान सरकार ने सख्त कदम उठाते हुए सेट्रंल बैंक चीफ को बदल दिया था.

गौरतलब है कि मई 2018 में अचानक अमेरिका ने ऐलान किया कि वह न्यूक्लियर डील ले बाहर होता है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने यह घोषणा की. अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने ईरान के साथ 2015 में हुए परमाणु समझौते से हाथ खींच लिए थे. इस फैसले के बाद कई विदेशी कंपनियों को ईरान के साथ कारोबार बंद करना पड़ा.

69 डाॅलर पर रुपया की ड्यूरेक्स कंडोम ने 69 सेक्स पाॅजिशन से तुलना कर ले लिया मजा

प्यार में नाकाम पाकिस्तानी आशिक BSF के हाथों गोली खाने बॉर्डर पहुंचा और फिर

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App