नई दिल्ली. Iran US Conflict Live Updates: दुनिया तीसरे विश्वयुद्ध के मुहाने पर खड़ा है, जब अहंकारी प्रवृत्तियां इतिहास में अपना नाम दर्ज कराने के लिए किसी भी हद तक जा सकती हैं. ईरान और अमेरिका के ताजा हालात देखने से लग रहा है कि लोगों की जुबां पर जो फिलहाल सबसे बड़ा सवाल ये है कि क्या ईरान और अमेरिका के बीच युद्ध हो सकता है, उसका जवाब मिल जाएगा. बीते मंगलवार को इराक की राजधानी बगदाद स्थित अमेरिकी दूतावास पर ईरान समर्थित अतिवादियों द्वारा हमला और इसके जवाब में बददाद एयरपोर्ट के बाहर अमेरिकी एयर स्ट्राइक में ईरानी जनरल कासिम सुलेमानी समेत 8 लोगों की हत्या ने ईरान और अमेरिका के रिश्ते इतने खराब हो गए हैं कि दोनों देश एक-दूसरे के खून के प्यासे हो गए हैं.

बीते शुक्रवार को कासिम सुलेमानी की हत्या के बाद ईरान ने इराक स्थित अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर रविवार को 2 मिसाइल दागे, जिसके बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर ईरान ने ऐसी उकसावे की कार्रवाई की तो अमेरिका उसके 52 ठिकानों पर हमला करेगा और पूरी दुनिया ईरान का हश्र देखेगी. इस जुबानी जंग के 2 दिन बाद ही मंगलवार देर रात ईरान ने फिर से इराक स्थित अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर मिसाइल बरसाए और दावा किया कि इस घटना में अमेरिका के 80 आतंकादी मारे गए. यहां बताना जरूरी है कि ईरान जहां अमेरिकी सेना को आतंकी बताता है, वहीं अमेरिका भी ईरानी सेना को आतंकी करार देती है.

मंगलवार को अमेरिकी ठिकानों पर ईरानी हमले में सैन्यकर्मियों की मौत के दावे का खंडन करते हुए डोनाल्ड ट्रंप ने कहा- ऑल इज वेल, यानी सबकुछ ठीक है. यहां यह बात बताना बेहद जरूरी है कि अमेरिका और ईरान के बीच टेंशन का मिडल ईस्ट एशिया के साथ ही बाकी देशों पर भी काफी बुरा असर पड़ रहा है. जहां सोने-चांदी के साथ ही कच्चे तेल की कीमतों में भी भारी उछाल देखने को मिल रहा है.

इनखबर पर देखें पल-पल के अपडेट्स, जहां भारतीयों से लेकर ईरान-इराक और अमेरिकियों के बयान और ताजा स्थिति की पूरी जानकारी:

Live Blog

17:27 (IST)

भारत में ईरान के एंबेसेडर डॉक्टर अली चेगेनी बोले- हम युद्ध नहीं चाहते

भारत में ईरान के एंबेसेडर डॉक्टर अली चेगेनी ने हालिया ईरान-अमेरिका विवाद को लेकर मीडिया से बातचीत में कहा कि हमें युद्ध नहीं करना और हमलोग शांति से अपने भाई-बहनों के साथ रहना चाहते हैं. डॉ. अली ने साफ तौर पर भारत को दोस्त बताते हुए कहा कि हम शांति से रहना चाहते हैं और युद्ध की विभिषिका में नहीं जाना चाहते.

16:58 (IST)

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी बोले- अमेरिका को इस इलाके से निकाल फेकेंगे

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने अमेरिका को चेतावनी देते हुए कहा है कि हमारा यूएस को यही करारा जवाब होगा जब हम उसे इस इलाके से निकाल बाहर फेकेंगे. रूहानी ने कासिम सुलेमानी का गुणगान करते हुए कहा कि जनरल सुलेमानी ने आईएसआईएस, अल नुसराह और अलकायदा जैसे आतंकी संगठनों का कड़ा मुकाबला करते हुए आतंक की जड़ें खत्म की और अगर सुलेमानी नहीं होते तो यूरोप के लोग इस इलाके में चैन से रह नहीं पाते, लेकिन अमेरिका ने सुलेमानी की हत्या कर बुरी कार्रवाई की है, जिसका करारा जवाब दिया जा रहा है.

16:34 (IST)

ईरान की कार्रवाई से भड़के डेमोक्रैटिक प्रेसिडेंशियल कैंडिडेट जो बिडेन ने अमेरिका राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को घेरा

ईरान द्वारा इराक स्थित अनेरिकी सैन्य अड्डों पर मिसाइल अटैक करने को लेकर अमेरिका में ही राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ मोर्चा खोल दिया गया है. डेमोक्रेटिक पार्टी के राष्ट्रपति पद उम्मीदवार जो बिडेन ने कहा है कि ईरान की कार्रवाई ने डोनाल्ड ट्रंप की कमजोर इच्छाशक्ति का पर्दाफाश किया है और इससे पता चलता है कि ट्रंप ईरान को जवाब देने में सक्षम नहीं हैं.

16:26 (IST)

इस्रायली पीएम बेंजामिन नेतन्याहू बोले-ईरान ने उकसावे की कार्रवाई की तो इस्रायस देगी जवाब

तीसरे विश्व युद्ध की आहट से डरे देशों ने ईरान और अमेरिका के बीच जारी तनातनी को लेकर जुबानी जंग छेड़ दी है. ईरान और अमेरिकी नेताओं द्वारा लगातार भड़काऊ बयानबाजी के बीच अब इस्रायल भी कूद पड़ा है. बुधवार को इस्रायली पीएम बेंजामिन नेतन्याहू ने साफ तौर पर कहा कि अगर ईरान इस्रायल के खिलाफ किसी तरह की उकसावे वाली कार्रवाई करती है तो उसे करारा जवाब दिया जाएगा.

16:12 (IST)

तनाव के मद्देनजर चीन ने सीएनपीसी के कर्मचारियों को वापस बुलाया

ईरान और अमेरिका के बीच जारी तनाव का असर एशिया के बाकी देशों पर भी पड़ रहा है और तेल का खजाना कहे जाने वाले इराक से चीन ने चीन नेशनल पेट्रोलियम कॉरपोरेशन के स्टाफ्स को अपने देश बुला लिया है. चीन से पहले अमेरिका ने इराक में तेल निकालने की कोशिशों में लगे अपने कर्मचारियों को इराक छोड़ने का निर्देश दे दिया था. अब बाकी देश भी इराक से अपने कर्मचारियों को वापस बुलाने लगे है.

14:40 (IST)

भारत और सिंगापुर के बाद अब फ्रांस ने भी इराक और ईरान के एयरस्पेस से अपने विमान का परिचालन रोका

अमेरिका और ईरान के बीच युद्ध का मैदान बना इराक सबसे ज्यादा नुकसान झेल रहा है. अब फ्रांस की प्रमुख एयरलाइन कंपनी एयर फ्रांस ने इराक और ईरान के एयरस्पेस से अपने विमान के परिचालन पर रोक लगा दिया है. यहां बता दूं कि भारत और सिंगापुर ने पहले ही इराक और ईरान के एयरस्पेस से अपने विमान के उड़ाने की मनाही कर दी है.

14:31 (IST)

ईरान ने कासिम सुलेमानी के शव को दफनाया, कल जनाजे में भगदड़ से 56 लोगों की मौत हो गई थी

ईरान द्वारा अमेरिका के 80 जवानों की हत्या से जुड़े दावे करने के एक घंटे बाद ही ईरानी जनरल कासिम सुलेमानी के शव को दफना दिया गया. कासिम सुलेमानी को मंगलवार को ही दफनाया था, लेकिन जनाजे में भगदड़ मचने की वजह से 56 लोगों की मौत के बाद दफनाने की प्रक्रिया टाल दी गई. आज सुलेमानी की लाश को दफनाया गया.

14:24 (IST)

इराक में अमेरिकी सेना पर मिसाइल अटैक का वीडियो ईरान ने जारी किया

ईरान अमेरिकी कार्रवाई का जवाब देने का पूरी तरह मन बना चुका है, तभी दो बीते 3 दिनों में उसने इराक स्थित अमेरिकी सैन्य अड्डों पर मिसाइल दागे हैं. आज तड़के फिर मिसाइल अटैक का वीडियो जारी करते हुए ईरान ने दावा किया कि उसने 80 अमेरिकी आतंकवादियों को मार गिराया. वहीं ट्रंप ने ईरान के दावे का खंडन किया है.

14:19 (IST)

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी बोले- इस इलाके से अमेरिका का प्रभाव खत्म कर देंगे

ईरान ने अमेरिका के खिलाफ हल्ला बोल दिया है और साफ तौर पर कबूल किया है कि उसने इराक में अमेरिकी सैन्य अड्डों पर मिसाइल अटैक कर 80 अमेरिकी जवानों को मौत के घाट उतारकर जनरल कासिम सुलेमानी की मौत का बदला ले लिया है. हसन रूहानी ने कहा कि ईरान मिडल ईस्ट एशिया से अमेरिका का प्रभाव खत्म कर देगा.

14:15 (IST)

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदीमीर जेलेंस्की बोले- बोईंग विमान हादसे में यूएस-ईरान टेंशन वजह नहीं, अफवाहों पर न दें ध्यान

ईरान की राजधानी तेहरान में आज सुबह प्लेन क्रैश की घटना में 170 से ज्यादा यात्रियों की मौत पर दुख जताते हुए कहा कि ईरान और यूएस के बीच चल रहे टेंशन का इस हादसे से कोई लेना-देना नहीं है. उन्होंने कहा है कि इस मुश्किल वक्त में लोग अफवाहों पर ध्यान न दें, क्योंकि विमान हादसे की वजह की जांच चल रही है.

14:02 (IST)

पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह की पीएम नरेंद्र मोदी से अपील- युद्ध के मुहाने पर खड़े खाड़ी देशों से 10 लाख भारतीयों को वापस लाएं

ईरान और अमेरिकी के बीच बने युद्ध के हालात के बीच भारत की राजनीतिक गलियारों में चिंता की लहर दौड़ गई है. बुधवार को पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री एस. जयशंकर से अपील की कि वे खाड़ी देशों में रह रहे 10 लाख से ज्यादा भारतीयों को वापस लाने की प्रक्रिया शुरू करें, क्योंकि वहां हालात कभी भी खराब हो सकते हैं, ऐसे में हमें भारतीयों की सुरक्षा का खास खयान रखना चाहिए.