नई दिल्ली. अमेरिका और ईरान के बीच युद्ध की स्थिति बन गई है. गुरुवार को ईरान ने एक अमेरिकी ड्रोन को मार गिराया और कहा कि उन पर यदि हमला हुआ तो वो युद्ध के लिए तैयार है. दूसरी तरफ अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी तल्ख तेवर दिखाते हुए कहा कि ईरान ने ड्रोन गिराकर सबसे बड़ी गलती कर दी. पिछले कुछ समय से अमेरिका और ईरान के बीच तनाव की स्थिति बन रही है और अब हालात जंग छिड़ने जैसे हो गए हैं. आपको बता दें कि अमेरिका विश्व की महाशक्तियों में से एक है और अमेरिकी सेना को दुनिया की सबसे शक्तिशाली सेना माना जाता है. अमेरिका ने विश्व के कई देशों में अपनी सेना तैनात की हुई है, इसमें जापान, अफगानिस्तान, जर्मनी, दक्षिण कोरिया और जर्मनी प्रमुख हैं. पूरे विश्व में से अकेले एशिया और यूरोप में ही 70 प्रतिशत अमेरिकी सेना की मौजूदगी है. आइए जानते हैं कि वर्तमान में किन-किन देशों में अमेरिकी सेना तैनात है.

जापान में अमेरिकी सेना की मौजूदगी-
1945 में जापान ने अमेरिका के सामने सरेंडर किया और द्वितीय विश्व युद्ध खत्म हुआ, तब से लेकर अभी तक जापान में अमेरिकी सेना तैनात है. वर्तमान में जापान में 40 हजार से भी ज्यादा सैनिक मौजूद हैं.

जर्मनी में अमेरिकी सेना की मौजूदगी-
जापान के बाद सबसे ज्यादा जर्मनी में अमेरिकी सेना की तैनाती है. अमेरिका जर्मनी से ही यूरोप में अपने मिलिट्री ऑपरेशन की रणनीति को धरातल पर लाता है. यूरोप में अमेरिकी सेना का मुख्यालय भी जर्मनी में ही है. जर्मनी में अमेरिकी सेना की मौजूदगी 60 के दशक से है.

दक्षिण कोरिया में अमेरिकी सेना की मौजूदगी-
1948 में कोरिया के विभाजन के बाद 1950 में कोरियाई युद्ध की शुरुआत हुई. एक तरफ उत्तरी कोरिया को चीन ने समर्थन दिया और दूसरी तरफ दक्षिण कोरिया को अमेरिका ने सपोर्ट किया. कोरियाई युद्ध खत्म होने के बाद 1953 से ही दक्षिण कोरिया में अमेरिकी सेना की मौजूदगी है. वर्तमान में करीब 25,000 अमेरिकी सैनिक दक्षिण कोरिया में तैनात हैं.

इटली में अमेरिकी सेना की मौजूदगी-
विश्व में अमेरिकी सेना की तैनाती के क्रम में इटली चौथे नंबर पर आता है. इटली में वर्तमान में 10 हजार से ज्यादा अमेरिकी सैनिक मौजूद हैं.

अफगानिस्तान में अमेरिकी सेना की तैनाती-
अमेरिका में साल 2001 में हुए 9/11 आतंकी हमले के बाद अलकायदा को खत्म करने के लिए अफगानिस्तान में अमेरिकी सेना की तैनाती की गई थी. इसका नतीजा यह रहा कि अफगानिस्तान में तालिबान की रीढ़ की हड्डी टूट गई. तब से लेकर अभी तक अफगानिस्तान में अमेरिकी सेना मौजूद है. अमेरिकी सेना ने अफगानिस्तान में आतंकवाद से निपटने के लिए कई बड़े मिलिट्री ऑपरेशन चलाए. पिछले साल अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जानकारी दी कि वह सीरिया औरर अफगानिस्तान से अमेरिकी सेना को वापस बुलाएंगे.

अन्य देशों में अमेरिकी सेना की मौजूदगी-
इन देशों के अलावा ब्रिटेन, कुवैत, बहरीन, इराक, कतर, तुर्की, जोर्डन, यूएई, ऑस्ट्रेलिया, बेल्जियम, क्यूबा, रोमानिया जैसे देशों में भी अमेरिकी सेना मौजूद है. अब तक के इतिहास में अमेरिका ने विश्व के 150 से ज्यादा देशों में अपनी सेना तैनात कर चुका है. हालांकि बाद में कई देशों से अमेरिका ने अपनी सेना को वापस बुला लिया. सीरिया में छिड़े ग्रह युद्ध के दौरान आईएसआईएस आतंकी संगठन से निपटने के लिए भी अमेरिका ने मिलिट्री ऑपरेशन चलाए थे.

Iran US Tension Timeline: ईरान और अमेरिका के बीच जंग के हालात, जानिए दोनों देशों के बीच कब-कब बढ़ा तनाव

Iran Ready for War with US: दुनियाभर में गहराया तीसरे विश्वयुद्ध का खतरा, ईरान ने मार गिराया अमेरिकी ड्रोन, तेल की कीमतों में लग सकती है आग

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर