जकार्ता: इडोनेशिया में सुनामी के चलते कम से कम 222 लोगों की मौत हो गई है, वहीं 700 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं. इंडोनेशियाई आपदा एजेंसी के अधिकारियों ने इस बात की जानकारी दी. ऐसा माना जा रहा है कि क्रैकटो ज्वालामुखी के ‘चाइल्ड’ कहने जाने वाले अनक ज्वालामुखी के फटने से संभवतः यह सुनामी आई है.

वैज्ञानिकों के मुताबिक, इस द्वीप का निर्माण क्रैकटो ज्‍वालामुखी के लावा से हुआ है. इस ज्‍वालामुखी में आखिरी बार अक्‍टूबर में विस्‍फोट हुआ था. वैज्ञानिकों का कहना है कि यहां अनक कराकातू ज्‍वालामुखी में विस्‍फोट की वजह से समुद्र के भीतर भूस्खलन हुआ है. सुनामी के पीछे यह कारण हो सकता है. सुमात्रा और जावा में सुनामी की वजह से भारी तबाही हुई है,वहीं राजधानी जकार्ता का पश्चिमी हिस्‍सा भी सुनामी की वजह से बेहद प्रभावित हुआ है.

देश की आपदा प्रबंधन एजेंसी के मुताबिक सुनामी की वजह से दर्जनों इमारतों को नुकसान पहुंचा है. गौरतलब है कि सुंडा स्ट्रैट, जावा और सुमात्रा द्वीपों के बीच है. ये जावा सागर को हिंद महासागर से जोड़ता है. नेशनल डिजास्टर एजेंसी के प्रवक्ता सुतोपो पुर्वो नुग्रोहो ने कहा कि सुनामी स्थानीय समयानुसार शनिवार रात करीब 9:30 बजे के आस-पास आई. नेशनल डिजास्टर एजेंसी अधिकारियों का कहना है कि अनक के फटने के कारण से समुद्र के अंदर लैंडस्लाइड हुआ और लहरों में असामान्य बदलाव आ गया. जिसने सुनामी का रूप धारण कर लिया. इंडोनेशिया की जियोलॉजिकल एजेंसी सुनामी के पीछे की वजह का पता लगाने में जुटी है. 

Donald Trump on Google Facebook Twitter: इंटरनेट के जरिए बदली जा रही है आपकी राजनीतिक सोच, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने खुद बताया

Imran Khan Supported Naseeruddin Shah: पाक पीएम इमरान खान ने किया नसीरुद्दीन शाह के बयान का समर्थन, कहा- जिन्ना जानते थे भारत असहिष्णु है

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App