Tuesday, December 6, 2022

Indonesia Earthquake: इंडोनेशिया भूकंप में अब तक 252 लोगों की मौत, 151 लापता

नई दिल्ली। इंडोनेशिया में सोमवार को एक शक्तिशाली भूकंप ने भीषण तबाही मचा दी, बताया जा रहा है कि इस 5.6 तीव्रता वाले भूकंप में 252 लोगों की मौत हुई और 700 से ज्यादा लोग घाएल हैं और तकरीबन 31 लोग लापता बताए जा रहे हैं. बता दें कि इंडोनेशिया में भूकंप आना कोई नई बात नहीं है, दरअसल, इंडोनेशिया में हर साल ऐसे कई भूकंप आते हैं, जिसमें सैकडों की संख्या में लोगों की जान जाती है. भारत में पिछले कुछ समय से कई भूकंप आए हैं, हालांकि इनकी तीव्रता ज्यादा नहीं थी, इसी वजह से जान-माल का ज्यादा नुकसान नहीं हुआ.

भूकंप क्यों आता है? जानें वजह

दरअसल में पृथ्वी के अंदर 7 प्लेटलेट्स हैं। यह सभी प्लेटलेट्स लगातार घूमती रहती हैं। जिस जगह पर ये प्लेटलेट्स टकराती है उसे फॉल्ट लाइन कहा जाता है। जब उनमें टकराव होता है तो उसके कोने मुड़ने लगते हैं। दबाव जब बढ़ जाता है तो ये प्लेटलेट्स टूटने भी लगती हैं। उनके टूटने के कारण पैदा हुई ऊर्जा बाहर निकलती है और भूकंप आता है।

कब मानते हैं शक्तिशाली भूकंप?

भूगर्भ वैज्ञानिकों के अनुसार उल्का प्रभाव और ज्वालामुखी विस्फोट, माइन टेस्टिंग और न्यूक्लियर टेस्टिंग के कारण भी भूंकप आता है। भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर मापी जाती है। अगर स्केल पर 2.0 या 3.0 की तीव्रता होती है तो इसे हल्का भूकंप माना जाता है, वहीं तीव्रता 6 से अधिक होती हे तो इसे शक्तिशाली भूकंप माना जाता है।

ऐसे लगाते हैं तीव्रता का अंदाजा

बता दें कि भूकंप की तीव्रता का अंदाजा उसके केंद्र से निकलने वाली ऊर्जा की तरंगों से लगाया जाता है। ये लहर सैकड़ों किलोमीटर तक फैली होती है, जिससे कंपन होता है और धरती में दरारें पड़ जाती हैं। भूकंप का असर अगर कम गहराई पर होता है तो उससे बाहर निकलने वाली ऊर्जा सतह के काफी नजदीक होती है, जिससे तबाही ज्यादा होती है।

 

सत्येंद्र जैन को मसाज देने वाला शख्स है रेप का आरोपी’- बीजेपी का दावा

Gujarat Election 2022: आज गुजरात में भाजपा का ‘मेगा शो’, अमित शाह ताबड़तोड़ रैलियां करेंगे संबोधित

Latest news