July 18, 2024
  • होम
  • 41 साल बाद ऑस्ट्रिया में भारतीय पीएम, नेहरू-इंदिरा के बाद अब मोदी पहुंचेंगे

41 साल बाद ऑस्ट्रिया में भारतीय पीएम, नेहरू-इंदिरा के बाद अब मोदी पहुंचेंगे

  • WRITTEN BY: Shikha Pandey
  • LAST UPDATED : July 9, 2024, 9:33 pm IST

नई दिल्ली. PM Modi Austria Visit: रूस के दौरे के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 10 जुलाई को ऑस्ट्रिया पहुंचेंगे. बता दें कि 41 साल पहले इंदिरा गांधी ऑस्ट्रिया गई थी, उसके बाद भारत के किसी प्रधानमंत्री की यह पहली ऑस्ट्रिया यात्रा है. प्रधानमंत्री मोदी ऑस्ट्रिया के चांसलर से मुलाकात करेंगे और व्यापार व निवेश को लेकर दोनों देशों के कारोबारियों के साथ विचार-विमर्श करेंगे. इसके अलावा ऑस्ट्रिया में मौजूद भारतीय समुदाय के लोगों से बातचीत करेंगे. आइए जानते है कि भारत और ऑस्ट्रिया के बीच कैसे रहे रिश्ते और दोनों देश एक-दूसरे से क्या-क्या आयात करते हैं.

75 सालों से राजनायिक संबध

प्रधानमंत्री मोदी की यह दौरा ऐसे समय में हो रहा है .जब दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंधों के 75 साल पूरे होने वाले है . बता दें कि साल 1949 में दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंध स्थापित हुए थे. सबसे पहले 1955 में भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ऑस्ट्रिया की यात्रा पर गए थे. उसके बाद 1971 में प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ऑस्ट्रिया की पहली यात्रा पर गई थीं. 1983 में वह दूसरी बार ऑस्ट्रिया की यात्रा पर गई थीं.

भारत-ऑस्ट्रिया के आर्थिक संबंध

ऑस्ट्रिया की गिनती यूरोपीय संघ के सबसे अमीरों देशों में होती है. ऑस्ट्रिया का भारत से आर्थिक संबंध काफी मजबूत हैं. भारत और ऑस्ट्रिया अपने द्विपक्षीय आर्थिक सहयोग मजबूत बनाने के लिए समय-समय पर प्रभावशाली कदम उठाते रहे हैं. भारत-ऑस्ट्रिया ने साल 1983 में संयुक्त आर्थिक आयोग (जेईसी) की स्थापना की थी. जेईसी के जरिए विभिन्न मंत्रालयों के साथ वाणिज्य एवं उद्योग मंडलों के बीच द्विपक्षीय वार्ता के लिए एक मंच मिलता है. इसके जरिए भारत और ऑस्ट्रिया के बीच टेक्नोलॉजी, इस्पात विनिर्माण, रेलवे, परिवहन, मेटल साइंस और उपकरणों के क्षेत्र में 100 से अधिक तकनीकी सहयोग और 60 संयुक्त उद्यम को मिलाकर 200 से ज्यादा समझौते हो चुके हैं.

ऑस्ट्रिया-भारत का व्यापार

भारत और ऑस्ट्रिया का द्विपक्षीय व्यापार काफी बेहतर है .स्टेटिस्टिक ऑस्ट्रिया की रिपोर्ट के मुताबिक 2021 में भारत ने ऑस्ट्रिया को 1.29 बिलियन अमेरिकी डॉलर का निर्यात किया. इसी तरह से ऑस्ट्रिया से 1.18 बिलियन अमेरिकी डॉलर का भारत ने आयात किया.यानि दोनों देशों का अभी तक द्विपक्षीय व्यापार 2.47 बिलियन अमेरिकी डॉलर का है.

ऑस्ट्रिया का भारत से आयात

ऑस्ट्रिया ने साल 2022 में भारत से करीब 307 मिलियन अमेरिकी डॉलर के इलेक्ट्रॉनिक और इलेक्ट्रिकल उपकरण मंगाया था इसके बाद 134 मिलियन डॉलर की मशीनें, न्यूक्लियर रिएक्टर और बॉयलर्स, रेलवे के अलावा 130 मिलियन डॉलर के वाहन, 124 मिलियन के फुटवियर और 111 मिलियन डॉलर के अन्य समान भी मंगवाया. इसके अलावा आयरन और स्टील आदि का आयात भी किया जाता है. बता दें कि भारत और ऑस्ट्रिया के आयात की लिस्ट काफी लंबी है.

भारत का आस्ट्रिया से आयात

भारत ने ऑस्ट्रिया से 2023 में 334 मिलियन डॉलर की मशीनरी आयात की . इस साल भारत ने ऑस्ट्रिया से 167.36 मिलियन डॉलर के स्टील और आयरन मंगाया था. 166 मिलियन डॉलर के इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक उपकरण, 103 मिलियन डॉलर से ज्यादा के मैनमेड स्टैपल फाइबर, 88 मिलियन डॉलर से ज्यादा के ऑप्टिकल, फोटो, टेक्निकल और मेडिकल उपकरण, 65 मिलियन डॉलर के ऑर्गेनिक केमिकल और 53 मिलियन डॉलर से ज्यादा के प्लास्टिक का आयात किया है. ऑस्ट्रिया से भारत को आयात किए जाने वाले सामानों की लिस्ट काफी लंबी है.

ये भी पढ़े :रूस का न्यूक्लियर बॉम्ब हैक करने की कोशिश में यूक्रेन, इस देश के साथ रची साजिश, लेकिन…

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन