नई दिल्ली. भारतीय अधिकारी करतारपुर कॉरिडोर के संचालन के लिए एक ड्राफ्ट समझौते में कुछ गैप्स को बंद करने का प्रयास करेंगे. आज यानि 4 सितंबर को भारतीय अधिकारी अटारी में अपने पाकिस्तानी समकक्षों से मिलेंगे. पंजाब के करतारपुर में दरबार साहिब गुरुद्वारा जाने के लिए भारतीय तीर्थयात्रियों की सुविधा के लिए तौर-तरीकों पर चर्चा और अंतिम रूप देने के लिए संयुक्त सचिव रैंक के अधिकारियों के बीच यह तीसरी बैठक होगी. 14 जुलाई को पाकिस्तान में वाघा में दूसरे दौर की वार्ता के बाद संयुक्त समझौते के विभिन्न प्रावधानों के संबंध में अधिकारिकयों ने अपने सुझाव साझा किए थे.

एक अधिकारी ने कहा, हम करतारपुर कॉरिडोर पर समझौते के जल्दी अंतिम रूप देने के दृष्टिकोण के साथ अंतराल को बंद करने के लिए तत्पर हैं. बैठक 30 अगस्त को अंतरराष्ट्रीय सीमा पर जीरो प्वॉइंट पर तकनीकी विशेषज्ञों की बैठक में गलियारे से संबंधित बुनियादी ढांचे के निर्माण और तकनीकी विशेषज्ञों की बैठक में हुई प्रगति की भी समीक्षा करेगी. भारत ने इससे पहले सितंबर में पहले सप्ताह में तारीखों का प्रस्ताव रखा था ताकि नवंबर में गुरु नानक की 550 वीं जयंती के लिए करतारपुर कॉरिडोर पर समझौते को अंतिम रूप दिया जा सके. यह गलियारा भारत के गुरदासपुर जिले के डेरा बाबा नानक को पाकिस्तान के करतारपुर में दरबार साहिब गुरुद्वारे से जोड़ेगा.

कई तकनीकी-स्तर की बैठकों में गलियारे के लिए एक अस्थायी सड़क के संरेखण पर ध्यान केंद्रित किया गया है, गलियारे का उपयोग करने के बारे में जानकारी का आदान-प्रदान करने के लिए तौर-तरीके और चिकित्सा मामलों सहित आपात स्थितियों से निपटने के लिए तौर-तरीकों पर विचार किया गया है. यात्री टर्मिनल भवन और राजमार्ग सहित गलियारे के लिए भौतिक बुनियादी ढांचे पर काम समय पर प्रगति पर है. भारत के गृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी प्रगति की निगरानी करने और अत्याधुनिक सुविधाओं के समय पर कार्यान्वयन सुनिश्चित करने के लिए एक अंतर-मंत्रालयी समूह की नियमित बैठकों की अध्यक्षता कर रहे हैं.

यह कॉरिडोर भारतीय तीर्थयात्रियों के वीजा-मुक्त करतारपुर यात्रा को सुविधाजनक बनाने के लिए है, जहां सिख धर्म के संस्थापक, गुरु नानक, ने अपने जीवन के अंतिम वर्ष बिताए थे, इस स्थान पर बने दरबार साहिब की यात्रा करने की अनुमति लेनी होगी. जम्मू और कश्मीर की विशेष स्थिति के निरसन पर तनाव के बावजूद, भारत और पाकिस्तान ने गुरु नानक की जयंती के लिए समय पर करतारपुर कॉरिडोर खोलने के लिए खुद को प्रतिबद्ध किया है.

Pakistan India Kartarpur Corridor Technical Meeting: भारत-पाकिस्तान तनाव के बीच करतारपुर कॉरिडोर को लेकर दोनों देशों के उच्च अधिकारियों के बीच होगी बैठक

India Pakistan Kartarpur Corridor: करतारपुर कॉरिडोर मामले में आतंकवाद पर भारी श्रद्धा, क्या लोकसभा चुनाव के बाद भारत-पाकिस्तान दोस्त बन गए?

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App