नई दिल्ली. जम्मू कश्मीर मसले पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का बौखलाया हुआ बयान सामने आया है. पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर की असेंबली को संबोधित करते हुए इमरान खान ने कहा कि भारत की नरेंद्र मोदी सरकार सिर्फ कश्मीर तक नहीं रुकेगा, पीओके में भी बढ़ेगा. पीएम इमरान ने कहा कि भारत ने बालाकोट से भी खतरनाक प्लान बनाया है. पीओके में भारत की ओर से बड़ी कार्रवाई हो सकती है. इमरान खान ने गीदड़ भभकी देते हुए आगे कहा कि अगर युद्ध छिड़ा तो जिम्मेदार होगी और पाकिस्तान ईंट का जवाब पत्थर से देगा.

इमरान खान ने आगे कहा कि भारत पीओके में कार्रवाई की तैयारी में है. पाकिस्तान फौज को भारत का प्लान पता है. जिस तरह पुलवामा के बाद बालाकोट किया, इस बार उससे भी खौफनाक प्लान है. इमरान खान ने आगे कहा कि हर ईंट का जवाब पत्थर से दिया जाएगा. पाक फौज तैयार है, पूरी कौम तैयार है. मुसलमान मौत से नहीं डरता.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि वे एक नजरिए के खिलाफ खड़े हैं जो ज्यादा खौफनाक है. पाकिस्तान के सामने एक खौफनाक विचारधारा खड़ी है जो आरएसएस की विचारधार है जिसने हिटलर की नाजी पार्टी से प्रेरणा ली थी. इस विचारधारा में मुस्लिम लोगों के खिलाफ नफरत है. साथ ही क्रिश्चन से भी नफरत करती है.

इमरान खान ने आगे कहा कि इसी विचारधारा की वजह से ही बंटवारा हुआ, महात्मा गांधी की जान ली. गुजरात में जो साल 2002 में हुआ, इसके बाद इस विचारधारा को बढ़ावा मिला. फिर यह इतनी बढ़ गई कि गाय के गोश्त खाने के नाम मुस्लिम लोगों की मॉब लिंचिंग होने लगी.

पीएम इमरान खान ने कहा कि कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाकर और जम्मू कश्मीर व लद्दाख को केंद्र शासित बनाकर नरेंद मोदी ने फाइनल कार्ड खेला है. यह नरेंद्र मोदी का स्ट्रैजिक ब्लंडर है जो नरेंद्र मोदी और बीजेपी को भारी पड़ेगा. दुनिया की नजर कश्मीर पर है. अब पाकिस्तान के ऊपर है कि इस मुद्दे को कैसे अंतराष्ट्रीय मच पर ले जाया जाए. इमरान खान ने आगे कहा कि वे कश्मीर के लिए दुनिया में आवाज उठाने वाले एंबसेडर बनेंगे.

Donald Trump No Mediation on Kashmir Issue: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का अब कश्मीर मसले पर भारत-पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता करने से इनकार

India Pakistan Tension over Jammu Kashmir Article 370 Revoke: जम्मू कश्मीर पर भारत-पाकिस्तान के तनाव के बीच IB का हाई अलर्ट, पीओके में दिखा मसूद अजहर का भाई, NSA अजीत डोभाल की हाई लेवल मीटिंग

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App