नई दिल्ली. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने स्वीकार किया है कि उनका देश अब आतंकी समूहों को अपनी धरती पर किसी भी तरह के लोगों के साथ संगठित होने की अनुमति नहीं देगा. इमरान खान ने यह भी कहा कि उन्हें लोकसभा चुनावों से पहले भारत के साथ सैन्य शत्रुता बढ़ने का डर है.

फाइनेंशियल टाइम्स को दिए एक इंटरव्यू में इमरान खान ने कहा, हमारे देश में जहां आपके सशस्त्र समूह मौजूद है वहां हम कोई पक्ष नहीं रख सकते. हम पुलवामा जैसी और किसी भी आतंकवादी गतिविधि के लिए दोषी नहीं ठहराया जा सकते. उन्होंने जोर देकर कहा कि उनके नए पाकिस्तान में आतंकवादियों के लिए कोई जगह नहीं है. उन्होंने दावा किया है कि वो देश के इतिहास में आतंकवादी समूहों पर सबसे गंभीर कार्रवाई कर रहे हैं. उन्होंने कहा, हम पहले से ही आतंकियों पर टूट रहे हैं, हम पहले से ही पूरे सेट अप को खत्म कर रहे हैं. अभी जो कुछ हो रहा है वह पाकिस्तान में पहले कभी नहीं हुआ.

इमरान खान ने यह भी दावा किया कि उन्हें अभी भी आशंका है कि भारत में आम चुनाव से पहले कुछ हो सकता है. भारत को युद्ध हिस्टीरिया से पीड़ित बताते हुए, इमरान खान ने कहा मैं चुनाव से पहले अभी भी आशंकित हूं, मुझे लगता है कि कुछ हो सकता है. पाकिस्तान ने जैश-ए-मोहम्मद की सुविधाओं को नियंत्रित करने सहित आतंकवादी समूहों के खिलाफ कार्रवाई करने का दावा किया है. वहीं भारत ने कार्रवाई को कॉस्मेटिक बताया है. नई दिल्ली ने आतंकवादियों, आतंकवादी समूहों, उनके समर्थकों और आतंकवादी बुनियादी ढांचे के खिलाफ विश्वसनीय और निरंतर कार्रवाई के लिए कहा है.

India Pakistan Cricket Tension: रांची वनडे में टीम इंडिया के आर्मी कैप पहनने पर बिफरा पाकिस्तान, कहा- क्रिकेट में हो रही राजनीति, आईसीसी करे कार्रवाई

Akbar Lone Praises Pakistan: नेशनल कॉन्फ्रेंस नेता अकबर लोन का विवादित बयान- पाकिस्तान आबाद रहे, पाक को गाली देने वाले को मैं दूंगा 10 गाली

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App