सैन फ्रांसिस्कोः कुछ समय पहले गूगल पर आरोप लगा था कि वह स्मार्टफोन की लोकेशन बंद होने के बावजूद यूजर्स की लोकेशन ट्रैक करता है. अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को में अब गूगल के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. स्थानीय फेडरेल कोर्ट में गूगल पर लोकेशन ट्रैक करके यूजर्स की प्राइवेसी के उल्लंघन के मामले में केस दर्ज किया गया है.

कैलिफोर्निया के रहने वाले एक शख्स ने गूगल के खिलाफ केस दर्ज कराया है. उन्होंने अपनी शिकायत में कहा है कि गूगल दावा करता है कि अगर गूगल लोकेशन को बंद कर दिया जाता है तो गूगल फौरन आपकी लोकेशन को ट्रैक करना बंद कर देता है लेकिन यह सरासर झूठ है. लोकेशन ऑफ करने के बाद भी गूगल हमारी लोकेशन को ट्रैक करता है. यह पूरी तरह निजता का उल्लंघन है.

फिलहाल गूगल की ओर से अभी इस मामले में कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है. बताते चलें कि हाल ही में एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ था कि आपके स्मार्टफोन में गूगल लोकेशन हिस्ट्री बंद होने के बावजूद गूगल यूजर्स की लोकेशन को ट्रैक करता है. यूजर अगर गूगल मैप को खोलता है तो उसकी लोकेशन की जानकारी स्वतः ले ली जाती है. इसी आधार पर आपके फोन में मौसम की जानकारी भी ऑटो अपडेट हो जाती है.

मामले के तूल पकड़ते ही गूगल ने सफाई देते हुए कहा था कि फोन की लोकेशन सेटिंग को ऑफ रखना, गूगल लोकेशन सर्विसेज़, आपके फोन की फाइंड माई डिवाइस जैसी अन्य लोकेशन सेवाओं को जरा भी प्रभावित नहीं करता है. फोन पर सर्च और मैप्स जैसी सेवाओं पर आपकी ऐक्टिविटीज के कारण आपकी लोकेशन का कुछ डेटा सवतः गूगल के पास सेव हो जाता है. जब आप अपने फओन में गूगल की लोकेशन हिस्ट्री को बंद कर देते हैं तो यह उस गूगल अकाउंट से जुड़े सभी डिवाइसेज़ के लिए भी बंद हो जाती है.

Google Doodle Ismat Chughtai: दबी कुचली महिलाओं की आवाज बनी उर्दू लेखिका इस्मत चुगताई की 103वीं जयंती पर गूगल का श्रद्धांजलि डूडल

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App