नई दिल्ली. चीन की स्मार्टफोन निर्माता कंपनी जियोनी ”दिवालिया होने की कगार” पर पहुंच गई है. कंपनी के बैंकरप्ट होने की खबर फिलहाल आधिकारिक नहीं है, लेकिन एक चीनी वेबसाइट जेइमियन ने दावा किया है कि कंपनी के चेयरमैन लियू लिरॉन की जुए की आदत के कारण कंपनी मुश्किलों में फंस गई है. बताया जा रहा है कि लियू लिरॉन्ग अमेरिका के सैपान स्थित एक कसीनो में जुआ खेलते वक्त 10 अरब यूआन यानी (1 खरब रुपये) हार गए. एंड्रॉयड अथॉरिटी के मुताबिक बाद में चेयरमैन ने खुद माना कि वे एक अरब यूआन से ज्यादा (10 अरब रुपये) राशि जुए में हार गए.

रिपोर्ट्स के मुताबिक कंपनी सप्लायर्स का भुगतान न कर पाने के अलावा विभिन्न डील्स पर काम करने के बारे में सोच रही है. जेमियन की रिपोर्ट के मुताबिक, करीब 20 सप्लायर्स ने 20 नवंबर को जिनली टू शेनजेन इंटरमीडिएट पीपल्स कोर्ट में दिवालियापन की अर्जी दायर की है. दिलचस्प बात है कि लिरॉन ने दावा किया कि उन्होंने जुआ खेलने के लिए जियोनी के पैसे का इस्तेमाल नहीं किया. लेकिन माना कि उन्होंने शायद कंपनी के ”फंड से पैसा लिया हो”. 

इस साल की शुरुआत में आई रिपोर्ट्स में कहा गया था कि जियोनी 2018 में करीब 650 करोड़ रुपये का निवेश करेगी. कंपनी के एक अफसर ने कहा था, “साल 2018 में हम भारत के टॉप 5 स्मार्टफोन ब्रैंड्स में शामिल होना चाहते हैं. हम 2017 के मुकाबले इस साल अपनी मार्केटिंग 30 प्रतिशत बढ़ाएंगे. हम 8 से 20 हजार के प्राइस रेंज के करीब 20 प्रतिशत शेयर हासिल करना चाहते हैं, यही हमारी स्ट्रैटजी है.   इस साल अप्रैल में जियोनी ने भारतीय बाजार में जियोनी एफ205 और जियोनी एस11 लाइट के जरिए वापसी की थी. 

OnePlus 6T McLaren:10 जीबी रैम वाला वन प्लस 6 टी मैकलेरन मोबाइल, 12 दिसंबर को होगा भारत में लॉन्च

Whatsapp Ad Update: वॉट्सएेप में भी दिखेंगे विज्ञापन, गुस्साए कर्मचारियों ने मारी नौकरी को लात