बैंकॉक. पिछले दो हफ्तों से पूरी दुनिया में थाईलैंड की गुफा में फंसे 12 फुटबॉल खिलाड़ियों के फंसे होने की खबर छाई हुई है. इनमें से 4 बच्चों को सुरक्षित बाहर निकाल में कामयाबी मिल गई है. अभी 8 बच्चे और उनके कोच अभी भी गुफा में फंसे हुए हैं और रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है. इस दौरान के ऐसी खबर सामने आई जिसने सभी को हैरान कर दिया.

थाईलैंड नेवी के पूर्व मेजर समान गुनान की मौत हो गई. ये खबर इसलिए भी चौंकाने वाली है क्योंकि गुनान थाई नेवी के पूर्व अधिकारी थे और उन्हें इस बड़े रेस्क्यू ऑपरेशन से जुड़ने के लिए आदेश नहीं दिए गए थे वो खुद ही इस रेस्क्यू ऑपरेशन के हिस्सा बने. उनकी मौत इन खिलाड़ियों के लिए ऑक्सीजन पहुंचाते वक्त हुई. गुनान ट्रेंड गोताखोर थे और वो इन खिलाड़ियों के लिए ऑक्सीजन पहुंचा रहे थे. बच्चों के लिए ऑक्सीजन पहुंचा रहे गुनान को खुद ही ऑक्सीजन नहीं मिली और उनकी मौत हो गई.

जानिए कितना कठिन है ये रेस्क्यू ऑपरेशन

बचाव अभियान में करीब 90 गोताखोरों की टीम है. इनमें थाई नेवी सील के अफसर भी शामिल हैं. संकरे और मटमैले पानी वाले रास्ते से बच्चों को निकाला जा रहा है. एक बच्चे को निकालने का जिम्मा दल के दो गोताखोरों पर है. पहला गोताखोर गाइड के रोल में है. जो एक रस्सी के सहारे बच्चों के फंसने वाली जगह से गुफा के मुहाने तक जोड़ता है. दूसरे गोताखोर के साथ बच्चा एक अलग रस्सी के सहारे जुड़ा रहता है. बच्चों को फुल मास्क और वेट सूट में लाया जा रहा है. बच्चों का ऑक्सीजन सिलेंडर गोताखोर के पास रहता है. ये गोताखोर साथी गाइड गोताखोर की रस्सी की मदद से बच्चे को बाहर तक लेकर आ रहे हैं.

मेजर समान गुनान के बारे में

मेजर समान गुनान रॉयल थाई नेवी की अंडरवाटर विध्वंस आक्रमण इकाई के पूर्व सदस्य थे. इसको थाई नेवी सील के रूप में भी जाना जाता है. यहां से रिटायर होकर वो साल 2006 से बैंकॉक के सुवर्नभूमि अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर एक पेट्रोल ऑफिसर के रूप में काम कर रहे थे. गुनान की मौत के बाद थाई नेवी सील ने अपने फेसबुक पेज पर उनके बारे में लिखते हुए कहा कि वो एक सक्षम अधिकारी थे और उन्हें एडवेंचर स्पोट्स से लगाव था. उन्होंने यूनिट से रिजाइन कर दिया था लेकिन उन्हें इससे बेहद प्यार था.

हालांकि हमने उन्हें खो दिया है लेकिन उनके साथ काम कर रहे बाकी गोताखोर इस मिशन को योजना के तहत पूरा करेंगे. उनकी दृणता हमेशा ही दूसरे गोताखोरों को प्रेरित करती रहेगी. हम आपके लिए इस मिशन को पूरा करेंगे गुनान.

इस मिशन पर जाने से पहले गुनान ने एक वीडियो भी रिकॉर्ड किया था. इस वीडियो में उन्होंने कहा कि वो बच्चों को घर पहुंचाने के लिए मदद करना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि बच्चों को बचाने के लिए जो भी जरूरी सामना है वो मैंने रख लिया है और मैं इसके लिए तैयार हूं. उन्होंने कहा कि मैं इस मिशन में मदद करने के लिए जा रहा हूं.

थाईलैंड की गुफा में फंसे बच्चों ने परिजनों को लिखे खत- ठीक हूं, पर हवाओं से डरता हूं मैं मां

थाईलैंड: गुफा में फंसे बच्चों और उनके कोच को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए एलन मस्क बना रहे पनडुब्बी

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App