इस्लामाबाद. पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) के सह-अध्यक्ष आसिफ अली जरदारी को फर्जी बैंक खातों के मामले में गिरफ्तार कर लिया गया है. पूर्व राष्ट्रपति जरदारी की गिरफ्तारी पाकिस्तान के राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (NBA) ने उनके इस्लामाबाद स्थित घर से की है. सोमवार को इस्लामाबाद हाईकोर्ट से उनकी जमानट याचिका बढ़ाने की मांग खारिज होने के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया है. वर्तमान में आसिफ अली जरदारी जमानत पर रिहा थे जिनपर साढ़े चार बिलियन पाकिस्तानी रुपए की हेरफेर का मामला चल रहा है. मंगलवार 11 जून को पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी को आगे की कार्रवाई के लिए अदालत में पेश किया जाएगा. वहीं आसिफ अली जरदारी की गिरफ्तारी को लेकर पाकिस्तान पीपल्स पार्टी ने कहा है कि राजनीतिक ढ़ंग से जूठे मामले में पूर्व राष्ट्रपति जरदारी को फंसाया जा रहा है.

इस्लामाबाद हाईकोर्ट ने पाकिस्तान पीपल्स पार्टी के अध्यक्ष बिलावल भुट्टों के पिता आसिफ अली जरदारी को बीते महीने भ्रष्टाचार के 6 मामलों में अंतरिम जमानत दी थी. लेकिन सोमवार 10 जून को आसिफ अली जरदारी की ओर से जारी अग्रीम जमानत के समय बढ़ाने की मांग को कोर्ट ने खारिज कर दिया. पूर्व राष्ट्रपति को गिरफ्तार करने वाली राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो ने कोर्ट में 11 पन्नों की रिपोर्ट जमा की. इस रिपोर्ट में दर्ज 36 मामले पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी का नाम है. साथ ही एनएबी ने दावा किया है कि कम से कम 8 मामलों में आसिफ अली जरदारी की भूमिका साबित हुई है.

मालूम हो कि हाल ही में पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति ने पीटीआई नेता और पाकिस्तान के प्रधानंमत्री इमरान खान पर देश में मंहगाई और बेरोजगारी बढ़ाने का आरोप लगाया था. पाकिस्तान के अखबार डॉन ने जरदारी के हवाले से कहा था कि अगर प्रधानमंत्री इमरान खान को जल्द नहीं हटाया गया तो देश में ऐसी स्थिति आ जाएगी, जहां किसी के लिए भी देश चलाना मुमकिन नहीं रहेगा.

Pakistani PM Imran Khan Desperate for Talks with Indian PM Narendra Modi: भारत से दोस्ती को गिड़गिड़ाने लगे इमरान खान ने तीसरी बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिख बातचीत की पेशकश की

Indian High Commission Iftar Party spoiled By Pakistan: पाकिस्तान में भारतीय दूतावास में आयोजित इफ्तार पार्टी में शामिल मेहमानों से इमरान खान सरकार ने की बदसलूकी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App