काहिरा. मिस्र के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद मोर्सी का को अदालत में सुनवाई के दौरान निधन हो गया. मिस्र में होस्नी मुबारक का तख्तापलट के सत्ता से बेदखल होने के बाद 2012 में मोर्सी मिस्र के राष्ट्रपति बने थे. 2013 में मिस्र की सेना ने तख्तापलट कर मोर्सी को राष्ट्रपति के पद से हटा दिया था और तभी से वे जेल में बंद थे. मोर्सी पर जासूसी का आरोप था और सोमवार को इसी मामले की अदालत में सुनवाई चल रही थी. सुनवाई के दौरान अचानक मोहम्मद मोर्सी बेहोश होकर गिर पड़े और बाद में उनका निधन हो गया. उनकी उम्र 67 साल थी. मोहम्मद मोर्सी इस्लामी संगठन मुस्लिम ब्रदरहुड के प्रमुख नेता थे. इस संगठन पर प्रतिबंध लगा हुआ है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सोमवार दोपहर मोहम्मद मोर्सी को एक मामले की सुनवाई के दौरान अदालत में ले जाया गया. अदालत में उन्होंने अपना बयान दिया और कटघरे में वे अचानक गिर पड़े. इसके बाद उन्हें हॉस्पिटल ले जाया गया जहां डॉक्टर्स ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मोर्सी के शरीर पर किसी भी तरह की चोटका निशान नहीं पाया गया है.

मिस्र में 2012 में हुए आम चुनाव के बाद मोर्सी ने संभाली थी सत्ता की कमान-
मिस्र में 2011 में होस्नी मुबारक के सत्ता से बेदखल होने के बाद 2012 में पहले आम चुनाव हुए. इस चुनाव में मिस्र में मुस्लिम ब्रदरहुड ने जीत दर्ज की थी और मोहम्मद मोर्सी देश के राष्ट्रपति बने थे. इसके एक साल बाद 2013 में देशभर में हुए प्रदर्शन को देखते हुए मोर्सी का तख्तापलट कर दिया था. सेना ने मुस्लिम ब्रदरहुड की कमर तोड़ दी और इस संगठन से जुड़े कई नेताओं को जेल में बंद करवा दिया. मोहम्मद मोर्सी पर हत्या और जासूसी समेत कई गंभीर आरोप लगे थे.

आरएसएस के सरसंघचालक और मुस्लिम ब्रदरहुड चीफ में ये अनोखी बात कॉमन है!

Couple Made Nude Video on Egypt Pyramid: मिस्र के पिरामिड पर कपल ने बनाई न्यूड विडियो, वायरल होने पर मचा हड़कंप

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App