Friday, December 9, 2022
गुजरात नतीजे (182/182)  हिमाचल नतीजे (68/68) 
BJP - 156 BJP - 25
AAP - 05 CONG - 40 
CONG - 17  AAP - 00
OTH - 04  OTH - 03 
Car Loan Tips

गाड़ी खरीदारों के लिए 20-10-4 फॉर्मूला है बेहद कारगर, जानिए इस तरीके को

0
Car Loan Tips: हर किसी के लिए कार खरीदना आसान नहीं है. इसके लिए आपको काफी पैसा खर्च करना पड़ता है. ऐसे में हर...
yrkkh

YRKKH : ट्विन्स बच्चों के माता-पिता बनने वाले हैं अक्षरा-अभिमन्यु, अक्षरा की हालत ख़राब

0
मुंबई: YRKKH Written Update:आज के एपिसोड में दिखाया जाएगा कि मंजिरी अक्षरा के लिए परेशान होती है। अभिमन्यु, अक्षरा से उसकी हेल्थ के बारे...
maldives terrorism

मालदीव में तेज़ी से पैर पसारता ISIS, हिंदुस्तान ने मदद के लिए भेजे NIA...

0
मालदीव में तेज़ी से पैर पसारता ISIS, हिंदुस्तान ने मदद के लिए भेजे NIA के अधिकारी नई दिल्ली: समुद्र से घिरे मालदीव इन दिनों एक...
(Himachal-Pratibha Singh)

हिमाचल: प्रतिभा सिंह ने CM पद पर फिर ठोका दावा, ‘कांग्रेस वीरभद्र के परिवार...

0
हिमाचल: शिमला। हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव परिणाम 8 दिसंबर को सामने आ गए हैं। कांग्रेस ने स्पष्ट बहुमत के साथ जीत हासिल की है।...
Maruti Suzuki Grand Vitara SUV

Maruti की इस गाड़ी का वेटिंग पीरियड बढ़ ही रहा है, लेने से पहले...

0
Maruti Suzuki Grand Vitara SUV: जैसा कि हम सब जानते हैं देश में सबसे ज्यादा गाड़ियों की बिक्री करने वाली कंपनी मारुति सुजुकी (Maruti...

दुनिया : नेपाल में आर्थिक संकट के बीच अर्थव्यवस्था को लगा झटका

दुनिया

नई दिल्ली, नेपाल की अर्थव्यवस्था को अब एक और बड़ा झटका लगा है. जहाँ नेपाल इस साल अपने ग्रोथ टारगेट यानी विकास लक्ष्य को हासिल कर पाने में असफल रहा है. आर्थिक संकटों के बीच फंसे नेपाल के लिए ये बुरी खबर है.

पर्यटन क्षेत्र को हुआ नुक्सान

नेपाल के वरिष्ठ अधिकारी ने एक बातचीत में बताया है कि देश को कोरोना महामारी के कारण पर्यटन क्षेत्र में काफी नुक्सान देखने को मिला है. इस समय बढ़ती महंगाई के कारण देश में आर्थिक संकट की मार भी झेली जा रही है. नेपाल में ये हालात काफी लम्बे समय से संकेत दे रहे थे. जब 16 जुलाई से शुरू हुए मौजूदा वित्त वर्ष (2021-22) की शुरुआत से ही आर्थिक संंकेतकों में गिरावट आनी शुरू हो गयी थी. नेपाल में मौजूदा वित्त वर्ष की स्थिति भी खराब ही नज़र आ रही है. जहाँ बीते आठ महीनों के भीतर ही विदेशी मुद्रा भंडार में क़रीब 17 फ़ीसदी की गिरावट देखि गयी है.

पिछले दो सालों में हुआ बुरा हाल

नेपाल का ये हाल कोरोना महामारी के समय बढ़ते आयात के चलते भी हुआ है. जहाँ देश में पर्यटन बुरी तरह से प्रभावित रहा और कोरोना से लड़ने के लिए पिछले दो वर्षों में कई ऐसी चीज़ें रही जिनका आयात देश ने किया. जिस कारण अब नेपाल का व्यापार घाटा बढ़कर 1.29 लाख करोड़ नेपाली रुपये तक बढ़ चुका है.

गवर्नर को किया निलंबित

आर्थिक चिंताओं को देखते हुए नेपाल में लग्ज़री वस्तुओं के आयात पर अब पाबंदी लगा दी गयी है. ऐसा घटते विदेशी मुद्रा भंडार को बचाने के लिए किया जा रहा है. दूसरी ओर 29 मिलियन लोगों की आबादी वाले इस देश में आर्थिक संकट की चिंताओं के बीच सेंट्रल बैंक के गवर्नर को भी निलंबित कर दिया गया है.

इसी बीच नेपाल की अर्थव्यवस्था के लिए बुरी खबर ये है जुलाई मध्य के लिए में नेपाल ने अपना जीडीपी लक्ष्य सात फ़ीसद तय किया था. लेकिन अब इस स्थिति में उसका ये लक्ष्य उपलब्ध कर पाना संभव होता नज़र नहीं आ रहा. एक वरिष्ठ अधिकारी ने इस बारे में बात करते हुए चिंता जताई है कि ये लक्ष्य केवल 4 फीसदी तक ही सिमट क्र रह जाएगा.

रूस-यूक्रेन संघर्ष ने खराब की स्थिति

नेपाल की इस खराब स्थिति का एक कारण रूस और यूक्रेन के बीच चल रहा युद्ध भी है. जिससे पूरे विश्व में इस समय कच्चा तेल, कोयला और खाद्य तेलों की आसमान छूती कीमतों के बीच नेपाल भी जूंझ रहा है. जहाँ नेपाल की अर्थव्यवस्था धीरे-धीरे ही सही कोरोना के संकट से उबर रही थी की एक और संकट उसके सामने युद्ध के तौर पर आ गया है.

यह भी पढ़ें:

Delhi-NCR में बढ़े कोरोना के केस, अध्यापक-छात्र सब कोरोना की चपेट में, कहीं ये चौथी लहर का संकेत तो नहीं

IPL 2022 Playoff Matches: ईडन गार्डन्स में हो सकते हैं आईपीएल 2022 के प्लेऑफ मुकाबले, अहमदाबाद में होगा फाइनल

Latest news