नई दिल्‍ली. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गणतंत्र दिवस पर चीफ गेस्ट के रूप में भारत आने के मोदी सरकार के निमंत्रण को ठुकरा दिया है. इस संबंध में हाल ही में अमेरिकी अधिकारियों ने भारतीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को एक पत्र सौंपा है. माना जा रहा है कि ट्रंप ने भारत नहीं आ पाने को लेकर खेद जताया है. मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि हाल ही में ईरान के साथ कच्चे तेल और रूस से एस -400 सौदे के चलते अमेरिकी राष्ट्रपति ने भारत सरकार का निमंत्रण ठुकराया है.

अमेरिकी अधिकारियों द्वारा अजीत डोभाल को भेजे गए पत्र में निमंत्रण स्वीकार नहीं किये जाने के कारण का जिक्र नहीं किया गया है. बताया जा रहा है कि अमेरिका में कुछ राजनीतिक कार्यक्रम और ट्रंप का स्टेट ऑफ यूनियन संबोधन 26 जनवरी से एक दिन पहले या एक दिन बाद में निर्धारित हो सकता है. इसी वजह से अमेरिकी राष्ट्रपति ने भारत आने से इंकार किया है. इससे पहले 2015 में ट्रंप के पूर्ववर्ती बराक ओबामा तमाम घरेलू जिम्मेदारियों के बावजूद गणतंत्र दिवस पर भारत आए थे.

ट्रंप ने मोदी सरकार का निमंत्रण ऐसे समय में ठुकराया है जब रूस के साथ सौदे को लेकर दोनों देशों के रिश्तों के बीच में तनाव आया है. भारत ने पिछले दिनों ही रूस के साथ रक्षा समझौता और ईरान के साथ तेल आयात किया है. अमेरिका के काउंटरिंग अमेरिकाज एडवर्सरीज थ्रू सैक्शंस एक्ट के तहत प्रतिबंधों की धमकी के बाद भी भारत ने रूस के साथ एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम डील फाइनल की थी. रूस ने भारत सरकार के इस कदम को स्वतंत्र रुप से कार्य करने के तौर पर स्वागत किया था. इसके अलावा भारत ने ईरान से तेल आयात रोकने या उसमें कटौती करने की किसी भी संभावना से इंकार कर दिया है. अमेरिकी रक्षा मंत्री माइक पोंपियो ने 2+2 वार्ता के दौरान कहा था कि अमेरिका अपेक्षा करता है कि भारत प्रतिबंधों से बचने के लिए 4 नवंबर तक ईरान से तेल आयात पूरी तरह बंद कर देगा.

US Pittsburgh Synagogue Shooting: अमेरिका में यहूदी प्रार्थना स्थल पर फायरिंग में 11 लोगों की मौत, डोनाल्ड ट्रंप बोले- हेट क्राइम बर्दाश्त नहीं

Pipe Bombs Sent to Hillary Clinton Barack Obama: बराक ओबामा- हिलेरी क्लिंटन को पार्सल से भेजा गया पाइप बम, FBI समेत तमाम सुरक्षा एजेंसियों में मचा हड़कंप

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App