मॉस्को. दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया गुरुवार को रूस की राजधानी मॉस्को में वर्ल्ड एजुकेशन कॉन्फ्रेंस में शरीक हुए. सिसोदिया ने यहां कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए दिल्ली के एजुकेशन मॉडल को प्रस्तुत किया. सिसोदिया ने सम्मेलन में दिल्ली सरकार द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में किए गए सुधारों पर बात की. मनीष सिसोदिया के पास शिक्षा मंत्रालय भी है. मॉस्को में आयोजित वर्ल्ड एजुकेशन सम्मेलन में सिसोदिया ने दिल्ली सरकार का शिक्षा मॉडल दुनिया के सामने रखा.

बता दें कि मनीष सिसोदिया ने आरोप लगाया था कि केंद्र सरकार उन्हें मॉस्को में आयोजित सम्मेलन में जाने की अनुमति नहीं दे रही. उन्होंने कहा था कि उन्हें इस सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए बुलाया गया है लेकिन केंद्र सरकार जाने की अनुमति नहीं दे रही. बाद में उन्हें जाने की अनुमति मिलने पर भी ट्वीट किया था. मनीष सिसोदिया दिल्ली के सरकारी स्कूलों को मॉडल के तौर पर विकसित करने पर जोर दे रहे हैं. उन्हें सरकारी स्कूलों की सूरत बदलने के लिए जाना जा रहा है. आमतौर पर डेप्युटी सीएम सरकारी स्कूलों के दौरे करते या वहां होने वाले कार्यक्रमों में उपस्थित रहते हैं.

आम आदमी पार्टी ने ‘दुनिया देख रही है दिल्ली का दम’ शीर्षक से मनीष सिसोदिया की कार्यक्रम में शरीक होने की तस्वीरें ट्वीट की हैं. इन तस्वीरों में मनीष सिसोदिया मंच पर अपनी बात रखते नजर आ रहे हैं. मनीष सिसोदिया को मंगलवार को मॉस्को जाने की परमीशन मिली थी. इसके बारे में भी उन्होंने ट्वीट कर जानकारी दी थी. इससे पहले उन्होंने आरोप लगाया था कि केंद्र सरकार नहीं चाहती कि दिल्ली की शिक्षा व्यवस्था दुनिया देख पाए.

दिल्ली में कांग्रेस को वोट देने का मतलब AAP के वोट काटकर BJP को जिताना- CM अरविंद केजरीवाल

ट्वीट के बाद केंद्र सरकार ने मनीष सिसोदिया को दी वर्ल्ड एजुकेशन कॉन्फ्रेंस के लिए मॉस्को जाने की इजाजत

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App