नई दिल्ली. China Will Ban Masood Azhar: अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मंगलवार को चीन के खिलाफ भारत को बड़ी कूटनीतिक जीत मिली है. दरअसल, चीन ने पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर हमले के गुनहगार पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मौलाना मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र संघ (यूए) में प्रतिबंधित करने और उसे वैश्विक आतंकी घोषित करने की पहल के समर्थन की बात कही है. इस तरह अब साफ हो गया है लंबे समय से पाकिस्तान के इस आतंकी को बचाने की कोशिश में लगा चीन भी अंतरराष्ट्रीय दबाव के आगे झुक गया है और उसने भारत के समर्थन का फैसला किया है.

मालूम हो कि बीते 14 फरवरी को पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर आतंकी हमले में 45 सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए थे. इस हमले की जिम्मेदारी जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी. बाद में भारत ने जेईएम चीफ मौलाना मसूद अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करने के लिए संयुक्त राष्ट्र में अपील की, लेकिन चीन ने फिर से भारत की अपील का समर्थन नहीं किया. वहीं भारत की इस अपील का फ्रांस, अमेरिका और ब्रिटेन ने समर्थन किया था.  

अगर मौलाना मसूद अजहर संयुक्त राष्ट्र में वैश्विक आतंकी घोषित हो जाता है तो उसके खिलाफ कई तरह के प्रतिबंध लगाए जाएंगे. साथ ही उसकी विदेशी संपत्ति भी जब्त कर ली जाएगी. यहां बता दूं कि भारत संयुक्त राष्ट्र से कई बार मौलाना मसूद अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करने की अपील कर चुका है, लेकिन हर बार चीन ने इसमें अड़ंगा लगाया. अब अंतरराष्ट्रीय दबाव में चीन भी भारत के समर्थन को तैयार हो गया है.

उल्लेखनीय है कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के रिश्ते सबसे ज्यादा खराब हो गए. भारत ने आतंकरोधी कार्रवाई के तहत पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) स्थित आतंकी ठिकानों पर एयर स्ट्राइक कर उसे तबाह कर दिया.

China Blocks Ban on Masood Azhar in UNSC: लगातार चौथी बार मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित होने से चीन ने बचाया, भारत समेत दुनियाभर के देशों की कोशिशों पर फिरा पानी

EU on Masood Azhar: यूएनएससी में चीन के अड़ंगे के बाद मसूद अजहर को आतंकी घोषित करेगा यूरोपीय संघ

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App