चीन और ताइवान के बिगड़ते हालत पर अमेरिकी राष्ट्रपति ने शी जिनपिंग से फ़ोन पर बात की है। अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन ने चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग से यह बातचीत ऐसे समय पर की है जब चीन पिछले 4-5 दिनों में 150 फाइटर जेट ताइवान में भेज चुका है। इस हरकत के बाद ताइवान और चीन के बीच हालत और गंभीर हो गये हैं और ताइवान ने आशंका व्यक्त की है कि चीन 2025 तक जंग छेड़ सकता है. साथ में यह चेतावनी भी दी है कि ताइवान भी तैयार है और यदि जंग हुई तो पूरा एशिया संकट में आ जाएगा.

चीन के इस कदम से ताइवान के साथ उसके रिश्‍ते पिछले 40 साल में सबसे खराब दौर में पहुंच गये हैं। राष्ट्रपति बाइडन ने चीनी राष्ट्रपति से इस मामले में बात की और रिश्तो को बेहतर करने पर जोर दिया। राष्ट्रपति बाइडन अपने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन को चीन के विदेश नीति सलाहकार यांग जिएची के साथ वार्ता के लिए स्विट्जरलैंड भेज रहे हैं। दोनों देशों के बीच ताइवान और व्यापार सहित कई मुद्दों पर मतभेद चल रहा है। यह बैठक ज्यूरिक में होगी। ताइवान के विदेश मंत्री ने यहां तक ऐलान कर दिया है कि वे जंग की तैयारी कर रहे हैं।

चीन की फाइटर जेट मामले में ताइवान की राष्ट्रपति साई इंग-वेन (Tsai Ing-wen) ने बयान दिया है. उन्होंने चीन को धमकी देते हुए कहा है कि ‘यदि चीन ताइवान पर कब्ज़ा करने की सोच रहा हो तो वो समझ ले कि इसका दुष्परिणाम चीन के साथ-साथ पूरे एशिया पर पड़ेगा।

आपको बता दे चीनी सेना ने दादागिरी की सारी हदें पार करते हुए ताइवान के एयर डिफेंस आइडेंटिफ‍िकेशन जोन में सोमवार को एक साथ 52 फाइटर जेट भेजे। यही नहीं उसके बाद फिर चार फाइटर जेट भेजे। पिछले 4 दिनों में चीन ने अब तक 149 फाइटर जेट ताइवान के एयर डिफेंस आइडेंटिफ‍िकेशन जोन में भेजे हैं। चीन की इस सीनाजोरी के जवाब में अब ताइवान ने जंग की तैयारी का ऐलान किया है। चीन और ताइवान के बीच जारी इस तनाव से दक्षिण चीन सागर में युद्ध के बादल मंडराने लगे हैं.

 

यह भी पढ़ें :

Mitra Scheme : त्योहारों में सरकार ने दिया रेलवे कर्मचारियों को तोहफा, मिलेगा 78 दिन के वेतन के बराबर बोनस

Punjab Assembly Election 2022 : अरविंद केजरीवाल ने चन्नी को दी ये नसीहत

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर