Monday, January 30, 2023

चीन ने बनाई हवा में चलने वाली स्काई ट्रेन, जानिए क्या है खासियत

नई दिल्ली: चीन ने 33 फीट ऊपर हवा में चुंबकीय ट्रैक पर चलने वाली स्काई ट्रेन का निर्माण किया है जो बिना बिजली और बिना अवाज किए चल सकती है. चीन दुनियाभर में नए-नए आविष्कारों और नई तकनीक के निर्माण के लिए जाना जाता है. चीन अक्सर ऐसी टेक्नोलॉजी का निर्माण करता है जिसकी परिकल्पना असल जिंदगी में करना मुश्किल होता है. इस बार चीन ने हवा में चलने वाली ट्रेन का निर्माण करके पूरी दुनिया को चौंका दिया है।

चीन ने दुनिया की पहली स्काई ट्रेन बनाई जो बिना अवाज किए हवा में चलती है. ये ट्रेन जमीन से 33 फीट ऊपर हवा में चुंबकीय ट्रैक पर चिपककर चलेगी. ट्रेन की जो कुछ फोटो सामने आई है उसे देखकर आप कन्फ्यूज हो जाएं और आप अपने मोबाइल या लैपटॉप की स्क्रीन को सीधा करने की कोशिश करेंगे क्योंकि ये ट्रेन उल्टी चलती है. ये स्काई ट्रेन हवा में बिल्कुल चमगादड़ की तरह उल्टी रहती है।

ट्रेन में क्या है खासियत

चीन की ये ट्रेन 33 फीट ऊपर हवा में चुंबक के सहारे चलती है. चीन ने शुरुआती तौर पर 2,600 फीट लंबा ट्रैक सिर्फ तैयार किया है. इस स्काई ट्रेन की रफ्तार फिलहाल 70 km प्रति घंटा दी गई है. खास बात है कि बिना आवाज किए चुपचाप हवा में चलती है. स्काई ट्रेन ने कई लेटेस्ट टेक्नोलॉजी को अपनाया है जैसे स्वचालित ड्राइविंग और कार्बन पीक।

मध्य चीन के हुबेई प्रांत के वुहान में ऑप्टिक्स वैली ऑफ चाइना में पर्यटक स्थलों की सैर के तहत स्काई ट्रेन को डिज़ाइन की गई है. इस ट्रेन में 70 km प्रति घंटा की स्पीड के साथ 200 यात्री सफर कर सकते हैं. चीन की इस पहली वाणिज्य स्काई-ट्रेन ने 26 अगस्त को पूर्वी चीन के शेडोंग प्रांत के किंगदाओ में सीआरआरसी सिफांग कंपनी के कारखाने में उत्पादन लाइन से काम शुरू की है।

क्या है भविष्य की योजना

चीन ने उम्मीद लगाई है कि स्काई ट्रेन वुहान के लिए एक नए पर्यटन आकर्षण का केंद्र होगी. स्काई ट्रेन की यात्रियों को अत्याधुनिक तकनीकों और ट्रेन में 270 डिग्री के दृश्य के साथ रोमांचक राइड का अनुभव भी कराएगी। वाहन का पूरा संचालन स्वचालित है जिसका अर्थ है कि यह मैन्युअल संचालन के बिना ही दरवाजे खोल और बंद कर सकता है।

बिहार में अपना CM चाहती है भाजपा, नीतीश कैसे करेंगे सियासी भूचाल का सामना

Latest news