Monday, December 5, 2022

दक्षिण कोरिया के लिए रवाना हुई पेलोसी, ताइवान पर हमले की धमकी दे चुका है चीन

नई दिल्ली, अमेरिकी प्रतिनिधिसभा की स्पीकर नैंसी पेलोसी की ताइवान यात्रा से चीन के इस कदर मिर्च लगी है कि वह बौखला गया है और हमले की धमकी दे रहा है. ड्रैगन इस यात्रा के संबंध में कई बार ताइवान के साथ ही अमेरिका तक को भी चेतावनी दी है, इन सबके बीच पेलोसी ने बुधवार को ताइवान की राष्ट्रपति से मुलाकात की और बातों-बातों में चीन पर निशाना भी साधा, अब पेलोसी ताइवान से दक्षिण कोरिया के लिए रवाना हो गई हैं और ऐसे में अंदेशा जताया जा रहा है कि चीन ताइवान पर सैन्य कार्रवाई को अंजाम दे सकता है.

ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि चीन की ओर से ताइवान के चारों ओर समुद्र और आसमान में सैन्य अभ्यास करने का भी ऐलान किया जा चुका है और इसके लिए चीन अपनी मिसाइलें, लड़ाकू विमान और मिसाइल डिफेंस सिस्टम भी वहां भेज रहा है. कहा जा रहा है कि चीन गुरुवार से 7 अगस्त तक यह सैन्य अभ्यास करने वाला है. वहीं चीन की इन हरकतों को देखते हुए अमेरिका ने भी फिलीपींस सागर में अपना शक्तिशाली युद्धपोत यूएसएस रोनाल्ड रीगन तैनात कर दिया है, पेलोसी ने भी अपने ताइवान के दौरे के समय कहा था कि अमेरिका ताइवान के लोगों के साथ है.

अमेरिका करेगा ताइवान की मदद

नैंसी पेलोसी ने बुधवार को कहा कि ताइवान की यात्रा पर पहुंचा अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल यह संदेश दे रहा है कि अमेरिका स्वशासी द्वीप के प्रति अपनी प्रतिबद्धताओं से पीछे नहीं हटने वाला है. चीन के विरोध के बावजूद पेलोसी के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने ताइवान में कई नेताओं के मुलाकात भी की. ताइवान की राष्ट्रपति साई इंग-वेन के साथ मुलाकात के बाद एक संक्षिप्त बयान में उन्होंने कहा था, आज विश्व के सामने लोकतंत्र और निरंकुशता के बीच एक को चुनने की चुनौती है और ऐसे में ताइवान और दुनियाभर में सभी जगह लोकतंत्र की रक्षा करने को लेकर अमेरिका की प्रतिबद्धता अडिग है.

Taiwan vs China: स्पीकर पेलोसी के दौरे से क्यों बौखलाया ड्रैगन, चीन-ताइवान के बीच विवाद क्या है?

 

Latest news