बीजिंगः साल 2020 तक चीन के आसमां में दो-दो चांद दिखाई दे सकता है क्योंकि चीन खुद अपना चांद लॉन्च करने जा रहा है. चीन यह कृत्रिम चांद इलेक्ट्रिसिटी बचाने के लिए बना रहा है, जिससे करीब 170 मीलियन डॉलर की इलेक्ट्रिसिटी की प्रतिवर्ष बचत होगी. दरअसल यह कृत्रिम चांद एक सैटेलाइट होगा जो कि चांद की तरह ही दिखाई देगा.

यह कृत्रिम चांद उस समय प्रकाशित होगा जब चांद आसमान में रहेगा. यह चांद से 8 गुना अधिक तेज प्रकाश देगा, जिससे सड़कों पर स्ट्रीट लाईट की जरूरत नहीं होगी. हालांकि अभी चीन प्रायोगित तौर पर ही सिर्फ एक कृत्रिम चांद का निर्माण कर रहा है. अगर यह प्रयोग सफल होता है तो अन्य ऐसे कृत्रिम चांद भी बनाए जाएंगे. फिलहाल चीन के सिचुआन प्रांत के चेंगदु शहर में ऐसे कृत्रिम चांद का निर्माण किया जा रहा है, जो 2020 तक लॉन्च हो जाएगा.

इसके बाद 2022 तक चीन को ऐसे 3 और सेटेलाइट लॉन्च करने हैं. यह सैटेलाइट सूर्य के प्रकाश से ऊर्जा लेंगे जो सूर्य की अनुपस्थिति में पूरे शहर को प्रकाशित करेंगे. इस सैटेलाइट को लॉन्च करने वाली टियान फू न्यू एरिया सोसायटी के चेयरमैन वु चुनफेंग ने कहा कि यह आविष्कार शहरी जीवन के लिए एक बलिदान साबित हो सकता है. इससे करीब 1.2 बिलियन युआन यानी 170 मीलियन डॉलर की बिजली की बचत होगी. इस पैसे का प्रयोग फिर अन्य किसी कामों में किया जा सकेगा.

Hichki China First Week Collection: इंडियन बॉक्स ऑफिस से ज्यादा चीन में हुई रानी मुखर्जी के हिचकी की कमाई

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App