वेटिकन सिटी: कैथोलिक ईसाईयों के सबसे बड़े धर्मगुरु पोप फ्रांसिस के बाद तीसरे सबसे बड़े धर्मगुरु को बाल यौन उत्पीड़न का दोषी मानते हुए 6 साल जेल की सजा सुनाई गई है. रिपोर्ट के मुताबिक जॉर्ज पेल जो वेटिकन के पूर्व कोषाध्यक्ष भी रहे हैं, उनपर दो बच्चों के यौन शोषण क आरोप साबित हुआ है. पोप जॉर्ज पेल ने 1996-97 में मेलबर्न कैथेड्रिल में दो बच्चों का यौन शोषण किया था. ये वो समय था जब जॉर्ज पेल को आर्क बिशप की उपाधि दी गई थी. आरोप है कि उन्होंने बच्चों से कहा कि वो कम्यूनिकेशन वाइन पिएं और फिर उन्हें अश्लील हरकतें करने को मजबूर किया.

कार्डिनल पैल आज वेटिकन के तीसरे सबसे बड़े पोप हैं जिन्हें पोप का उत्तराधिकारी भी बताया जाता रहा है. बुधवार को जज किड ने कहा कि कैथोलिक चर्च में बड़े पद पर होने की वजह से उनकी सजा कम नहीं होगी. इससे पहले दिसंबर में जूरी ने पैल को 16 साल से कम उम्र के बच्चे के साथ छेड़छाड़ की कोशिश की थी. पोप फ्रांसिस के पूर्व सलाहकार ने कोर्ट की सजा के बाद किसी तरह की कोई प्रतिक्रिया नहीं दी.

कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि कार्डियन जॉर्ज पेल ने अपनी शक्तियों का गलत इस्तेमाल किया और ना सिर्फ पीड़ित बच्चों का विश्वास तोड़ा बल्कि उनका यौन उत्पीड़न भी किया जिसकी उन्हें सजा दी जाएगी. गौरतलब है कि पिछले कुछ समय से दुनियाभर के चर्चों से बच्चों, ननों और महिलाओं के यौन उत्पीड़न की खबरें आ रही हैं और इस बार तो वेटिकन सिटी के तीसरे सबसे बड़े कार्डियन को यौन उत्पीड़न का दोषी पाया गया है.

Nick Jonas Surprise Gift To Priyanka Chopra: निक जोनास ने प्रियंका चोपड़ा को दिया इतना महंगा बंगला की जानकर उड़ जाएंगे होश

Bajrang Dal Organizes Ghar Wapasi: ईसाई बनने वाले 12 दलितों की क्रिसमस के दिन बजरंग दल ने कराई ‘घर वापसी’, यज्ञ से किया शुद्धिकरण

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App