लंदन. रूस के 28 वर्षीय बॉक्सर मैक्सिम डेडशेव के लिए आईबीएफ लाइटवेट बॉक्सिंग मुकाबला जानलेवा साबित हुआ. पिछले हफ्ते शुक्रवार को हुए इस मुकाबले में सबराइल मेटियास के खिलाफ खेलते हुए मैक्सिम डेडशेव ने लगातार चोटों के बावजूद खेलना जारी रखा. उनके ट्रेनर बडी मैकग्रिट उन्हें लगातार कहते रहे कि खेल रोक दिया जाए लेकिन मैक्स ने मना कर दिया. आखिरकार 11वें राउंड में जाकर सबराइल को जीत हासिल हुई लेकिन तब तक मैक्स को जानलेवा चोट लग चुकी थी. इसके बाद स्ट्रेचर पर मैक्स को अस्पताल ले जाया गया. जहां 4 दिनों तक जिंदगी की जंग लड़ने के बाद महज 28 साल की उम्र में मैक्सिम डेडशेव ने दुनिया को अलविदा कह दिया.

रशियन बॉक्सिंग फेडरेशन ने कहा है कि वह इस मामले की जांच कराएगी. बॉक्सिंग फेडरेशन के सेक्रेट्ररी जनरल उमर करमलेव ने कहा, ” ऐसा लगता है कि इस मामले में नियमों का उल्लंघन हुआ है. हमने मैक्सिम डैडाशेव को खो दिया. वह युवा था और उसमें काफी संभावनाएं थीं. हम उसके परिवार की हरसंभव मदद करेंगे. यह किसी खेल में हो सकता है. मुझे लगता है कुछ मानवीय भूलें इस दुर्घटना की जिम्मेदार हैं.”बता दें कि मूलत: अमेरिकी मैक्सिम ने इससे पहले अपनी सभी 13 फाइट्स जीती थीं. लेकिन इस मुकाबले में अपने प्रतिद्वंदी राइकन मैटियास उन पर भारी पड़े. इस घटना के बाद मैक्सिम के कोच ने कहा, “मैं उसे फाइट छोड़ने के लिए नहीं मना पाया. वह लगातार मना करता रहा. 11 वें राउंड के बाद जब मैंने देखा कि वो ठीक से खड़ा तक नहीं हो पा रहा है तो मुझे चीजें अपने हाथ में लेनी पड़ी और रेफरी से कहना पड़ा कि वह फाइट रोक दें.”

यह बॉक्सिंग मैच साबित हुआ मैक्स की जिंदगी की आखिरी फाइट, देखें वीडियो

बता दें कि मैच के बाद मैक्सिम को अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उनकी इमरजेंसी सर्जरी भी हुई लेकिन यह सब नाकाफी साबित हुआ. 4 दिनों तक जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष करते हुए आखिरकार यह फाइटर जिंदगी का मैच हार गया. वह पिछले चार दिनों से कोमा में थे और आखिरकार दम तोड़ दिया. बॉक्सिंग रिंग में मौत की न तो यह पहली घटना है न आखिरी. रशियन बॉक्सिंग फेडरेशन ने इस मामले की जांच कराने का फैसला किया है. सारी फाइट कैमरे के सामने हुई है. हम इस स्टोरी में मैच का वीडियो भी दे रहे हैं. बॉक्सिंग जैसे खेलों में मैच खत्म करने का निर्णय फाइटर को करना चाहिए या रेफरी और मेडिकल स्टाफ को यह बहस एक बार फिर उठ खड़ी हुई है. आप इस मुद्दे पर क्या सोचते हैं, हमें कमेंटबॉक्स में जरूर बताएं.

MS Dhoni on Match Fixing: महेद्र सिंह धोनी की नजर में हत्या से बड़ा अपराध है मैच फिक्सिंग

Happy Birthday Mary Kom: बॉक्सिंग में 6 बार वर्ल्ड चैंपियन बनने वाली एमसी मैरी कॉम के संघर्ष को सलाम, खेतों में गुजारा बचपन आज हैं दुनिया की नंबर वन बॉक्सर

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर