श्रीलंका. श्रीलंका रविवार को एक के बाद एक आठ बम धमाकों से दहल उठा. राजधानी कोलंबो समेत देहीवाला में चर्च और पांच सितारा होटल समेत कुल 8 बम ब्लास्ट हुए हैं. इन धमाकों से श्रीलंका में खौफ का मंजर देखा जा रहा है. अब तक इन धमाकों में 6 भारतीयों समेत 290 लोगों की मौत हो चुकी हैं और करीब 500 लोग जख्मी हालत में अस्पताल में भर्ती हैं. इस हादसे के शिकार भारतीयों में कर्नाटक के दो जेडीएस नेता भी हैं. स्थानीय प्रशासन का कहना है कि मरने वालों की संख्या और बढ़ सकती है. मरने वालों में करीब 40 लोग विदेशी नागरिक हैं. इस मामले में अब तक 13 संदिग्धों की गिरफ्तारी हुई है. 

रविवार शाम विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर बताया कि कोलंबो में भारतीय उच्चायुक्त ने जानकारी दी है कि श्रीलंका में हुए सिलसिलेवार बम धमाकों में 3 भारतीयों की भी मौत हो गई हैं. मृतक भारतीयों के नाम लोकाशिनी, नारायण चंद्रशेखर और रमेश हैं. सोमवार सुबह 2 और भारतीयों के मारे जाने की खबर की पुष्टि हुई जो कर्नाटक के जेडीएस नेता है और इनका नाम के. जी हनुमंतारयप्पा और एम. रंगप्पा है. सोमवार को विदेश मंत्रालय ने इन विधायकों के मारे जाने की पुष्टि की. मृतकों की डिटेल जानकारी जुटाई जा रही है. सुषमा स्वराज ने बताया कि श्रीलंका के अधिकारियों से बातचीत हो रही है और जरूरत पड़ने पर हम अपनी मेडिकल टीम श्रीलंका भेजने के लिए तैयार हैं. मीडिया रिपोर्ट में केरल की रजीना नामक एक महिला की मौत की भी खबर आ रही है. रजीना जिस होटल में ठहरी थीं, वहीं ब्लास्ट हुआ था.

ताजा जानकारी के मुताबिक इन धमाकों में अब तक 40 विदेशी नागरिकों समेत कुल 290 लोगों की मौत हो चुकी है. विस्फोटों में से एक राजधानी कोलंबो के कोच्चीकेड में सेंट एंथोनी चर्च था. पुलिस ने राजधानी के शांगरी-ला होटल और किंग्सबरी होटल में भी विस्फोट की सूचना दी. श्रीलंका की राजधानी कोलंबो में रविवार को कई चर्चों और होटल में विस्फोट हुए. ये विस्फोट ईस्टर सेवाओं की पूजा के दौरान हुए. वहीं सातवां धमाका कोलंबो के पास देहीवाला शहर में हुआ, जिसमें दो लोगों के मारे जाने की सूचना है. इसके बाद आठवां धमाका राजधानी कोलंबो में हुआ जिसमें भी तीन लोगों की मौत हो गई.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अंतिम के दो धमाके आत्मघाती हमलावारों ने किए हैं. ये बम बम ब्लास्ट ईसाइयों के ईस्टर पर्व के दौरान श्रीलंका के कोचिकेड, सेंट सेबेस्टियन और बैटिकलोआ चर्चों में प्रार्थना करने पहुंचे लोगों को निशाना बनाया गया था. अन्य दो स्थान होटल शांगरी ला और सिनेमोन ग्रैंड हैं.

श्रीलंका में हुए सीरियल ब्लास्ट के बाद सोशल मीडिया पर अस्थायी रूप से प्रतिबंध और कर्फ्यू लगा दिया गया है. वहीं शाम में 6 बजे बाद रात्रि कर्फ्यू लगाने का ऐलान कर दिया गया है. 

अभी तक किसी भी आतंकवादी संगठन ने बम धमाकों की जिम्मेदारी नहीं ली है. श्रीलंकन पुलिस कोलंबो समेत अन्य जगहों पर छापेमारी कर संदिग्धों की धरपकड़ कर रही है. कुछ संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. वहीं दूसरी ओर श्रीलंका के कट्टरवादी संगठन नेशनल थोहेथ जमात पर धमाकों का शक जा रहा है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक दो आत्मघाती हमलावरों की जहरान हाशिम और अबू मोहम्मद के रूप में पहचान हुई है.

वहीं भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, श्रीलंका में हुए भयानक विस्फोटों की कड़ी निंदा करते हैं. हमारे क्षेत्र में इस तरह की बर्बरता के लिए कोई जगह नहीं है. भारत श्रीलंका के लोगों के साथ एकजुटता के साथ खड़ा है. मृतकों के परिवारों के साथ मेरी सांत्वना और घायलों के साथ प्रार्थना है. पीएम मोदी ने श्रीलंका के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री से फोन पर बात भी की और बम धमाकों पर संवेदना व्यक्त की.

 

Who is NTJ Srilanka Bomb Blast: कौन है नेशनल थोहेथ जमात, जिस पर श्रीलंका बम धमाके का शक जा रहा है

Sri Lanka Blast Attackers: कौन हैं आत्मघाती हमलावर जहरान हाशिम और अबू मोहम्मद जिन्होंने श्रीलंका में बम धमाके कर 160 लोगों को मौत के घाट उतार दिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App