नई दिल्ली. इजरायल में सियासी हलचल के बीच पीएम नरेंद्र मोदी के करीबी कहे जाने वाले इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू रिश्तवत, धोखाधड़ी और विश्वासघात के मामले में अभियोग का सामना करेंगे. इजरायल के इतिहास में ऐसा पहली बार हो रहा है जब कोई प्रधानमंत्री अपराधिक मुकदमे का सामना कर रहा हो. इजरायल के अटोर्नी जनरल ने वकील और इजरायली संसद के स्पीकर को नोटिस भेजकर पीएम नेतन्याहू को कुर्सी से उतारने के लिए अभियोग की प्रक्रिया शुरू करने के लिए कहा है.

पीएम नेतन्याहू को सबसे ज्यादा परेशान करने वाला आरोप है ”केस 4000.” यह केस पीएम नेतन्याहू और उनकी पत्नी के इजरायल के बड़े टेलिकोम कारोबारी के साथ संबंधों को लेकर है.

पुलिस के मुताबिक, प्रधानमंत्री नेतन्याहू ने इजरायल के दूरसंचार मंत्री रहते हुए शॉल इलोविट्ज नामक कारोबारी को कई सौ करोड़ डॉलर का फायदा पहुंचाया था. इसके बदले नेतन्याहू और उनकी पत्नी की मांग थी कि शॉल के स्वामित्व वाली इजरायल की प्रमुख वेबसाइट उनकी और पार्टी की अच्छी कवरेज करे.

पुलिस बीते फरवरी में भी नेतन्याहू पर रिश्वत के 2 अपराधिक मामलों में कार्रवाई की सिफारिश कर चुके हैं. इसमें पहला मुकदमा यानी ”केस 1000” में नेतन्याहू पर एक कारोबारी से 2 लाख मिलियन डॉलर की रिश्फ बतौर तोहफे में लेने का आरोप है.

वहीं ”केस 2000” के तहत नेतन्याहू पर एक और मामले में रिश्वत लेने का आरोप है. इस केस में पीएम नेतन्याहू पर इजरायल के प्रमुख अखबार के पब्लिशर आरनोन मोजेस के साथ रिश्वती समझौते करने का आरोप है.

Nithyananda Flown Out Of India: रेपिस्ट और बच्चों को अगवा करने का आरोपी स्वामी नित्यानंद देश छोड़कर भागा, गुजरात पुलिस ने की पुष्टि, प्रत्यर्पण पर चर्चा, आश्रम की दो महिला अनुयायी अरेस्ट

Kashmir Hurriyat Leaders Pakistan Connection: खूफिया रिपोर्ट में खुलासा- पाकिस्तान देता था जम्मू कश्मीर के हुर्रियत नेताओं को फंड, इंटरनेट पर होती थी आतंक की साजिश

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App