वियना. ऑस्ट्रिया के चांसलर सेबेस्टियन कुर्ज़ ने देश में पनप रहे इस्लामिक कट्टरपंथ के कारण देश की 7 मस्जिदों को बंद करने का फैसला किया है. इसके अलावा ऑस्ट्रिया इन मस्जिदों में काम करने वाले कई इमामों के देश से बाहर निकालने जा रहा है. चांसलर सेबेस्टियन कुर्ज़ ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी. कुर्ज़ ने कहा कि ये फैसला धार्मिक मामलों की अथॉरिटी के द्वारा अप्रैल में सामने आए कुछ फोटो की जांच के बाद लिया गया है. इन फोटो में कुछ बच्चे तुर्की समर्थित मस्जिदों में मरने और विश्व युद्ध की लड़ाई का खेल खेल रहे थे.

इस मामले में कुर्ज़ ने कहा कि हमारे देश में समांतर समाज, राजनीतिक इस्लाम और कट्टरता के लिए कोई स्थान नहीं है. बताया जा रहा है कि विवादित फोटो फाल्टर साप्ताहिक द्वारा प्रकाशित की गई थी. जिसमें युवा लड़के आर्मी की वर्दी में घुसपैठ, सलाम करना, तुर्की झंडे को फहराने के साथ मरने का खेल खेल रहे थे. जिसके बाद मरने का नाटक करने वाले लड़के को झंडे में लपेटा गया है.

जिस मस्जिद पर ये आरोप लग रहे हैं वो तुर्की-इस्लामी सांस्कृतिक संघों (एटीआईबी) संगठन द्वारा संचालित किया जा रहा है. जोकि जर्मन शहर कोलोन में स्थित है और तुर्की की धार्मिक मामलों की एजेंसी डायनाट की एक शाखा है. एटीआईबी ने भी इन तस्वीरों की कड़ी निंदा की है. एटीआईबी ने घटना को अत्यधिक खेदजनक बताया है.

सिंगापुर में 12 जून को सुबह 9 बजे होगी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और तानाशाह किम जोंग की ऐतिहासिक वार्ता 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App