Thursday, August 11, 2022

दुनिया : अमेरिका में महिलाएं पुरुषों के खिलाफ क्यों कर रही हैं सेक्स स्ट्राइक?

नई दिल्ली, पिछले दिनों अमेरिका के सुप्रीम कोर्ट ने महिलाओं के गर्भपात के संवैधानिक अधिकार को समाप्त कर दिया. SC ने अपने इस फैसले में गर्भपात को कानूनी तौर पर मंजूरी देने वाले 50 साल पुराने फैसले को पलट दिया है. इससे पूरे देश में महिलाओं ने विरोध छेड़ दिया है. जहां महिलाएं सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से काफी असंतुष्ट हैं. इस समय देश के अलग-अलग शहरों में प्रदर्शन हो रहे हैं.

देश की सड़कों पर तो महिलाएं विरोध कर ही रही हैं साथ ही सोशल मीडिया पर भी इस फैसले को लेकर बहस शुरू हो गई है. अमेरिका में ट्विटर पर #Abstinence और #SexStrike जैसे शब्द ट्रेंड कर रहे हैं. कई महिलाओं का कहना है कि उन्हें मिलने वाला गर्भपात का कानूनी अधिकार जारी रहना चाहिए और जहां महिलाएं अपनी इस मांग में पुरुषों का समर्थन भी मांग रही हैं. दूसरी ओर ट्विटर पर लोग इस मामले को लेकर अपनी अलग-अलग प्रतिक्रिया दे रहे हैं. जहां 24 साल की टेक्नीशियन ब्रायना कैंपबेल कहती हैं, ‘यदि आप एक पुरुष हैं और मेरे अधिकारों के लिए सड़कों पर नहीं उतरते हैं, तो आप मेरे साथ यौन संबंध बनाने के लायक नहीं हैं.’

विरोध कर रही हैं महिलाएं

सोशल मीडिया पर 22 साल की इवेंट कोऑर्डिनेटर कैरोलिन हीली ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है. कैरोलिन ने पूछा- क्या पुरुषों के लिए महिलाओं के अधिकारों से ज्यादा महत्वपूर्ण सेक्स है? इतना ही नहीं अमेरिका के Manhattan के Union Square पर भी इस फैसले को लेकर खूब विरोध प्रदर्शन हुआ. जहां नए गर्भपात कानून के विरोध में शामिल होने आई एक लड़की ने कहा- ‘महिलाओं से गर्भपात के संवैधानिक अधिकार को नहीं छीना जाना चाहिए.’

रेप पीड़िता ने की अपील

इस मामले पर सोशल मीडिया पर तो जैसे बाढ़ आ गई है. जहां रेप की शिकार माया डेमरी ने जोर देते हुए कहा कि महिलाओं को ‘अपने इस अधिकार को वापस पाने के लिए कानूनी दायरे में रहकर सबकुछ करने की जरूरत है.’ डेमरी आगे कहती हैं, हम यहां बैठकर उन महिलाओं/लड़कियों के दर्द के बारे में कल्पना भी नहीं कर सकते जो रेप के बाद प्रेग्नेंट हो जाती हैं. बता दें, महिलाओं का एक तर्क यह भी है कि यदि किसी युवती के साथ दुष्कर्म हो जाता है और यह उस दौरान कंसीव यानी गर्भ ग्रहण कर लेती है तो यह अधिकार उसके पास होना चाहिए की वह इस बच्चे को अपने पास रखे या न रखे.

हम जोखिम नहीं उठा सकते

इस मामले में एक अन्य महिला कहती है कि “हम अनचाही गर्भावस्था का जोखिम नहीं उठा सकते. इसीलिए अब हम किसी भी पुरुष के साथ यौन संबंध नहीं रखेंगे, चाहे वो हमारा पति ही क्यों ना हो, जब तक कि हम खुद प्रेग्नेंट होना नहीं चाहें.” ट्विटर पर #SexStrike के साथ कैम्पेन चलाया गया है और इस हैशटैग पर 50 हजार से अधिक ट्वीट भी किए गए हैं. इसके साथ ही ट्विटर पर #Abstinence भी ट्रेंड हो रहा है. बता दें, इस फैसले को लेकर राष्ट्रपति बाइडन ने भी निंदा की थी. उन्होंने इसे महिलाओं के स्वास्थ्य और जीवन के लिए खतरा बताया था.

India Presidential Election: जानिए राष्ट्रपति चुनाव से जुड़ी ये 5 जरुरी बातें

Latest news