वॉशिंगटन. अमेरिका में अवैध रूप से रहने के आरोप में गिरफ्तार किए 130 छात्रों पर अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने सफाई दी है. गिरफ्तार किए 130 छात्रों में से करीब 129 छात्र भारत के हैं. विदेश मंत्रालय ने साफ किया है कि गिरफ्तार किए गए सभी भारतीय छात्रों को मालूम था कि वे कानून तोड़ते हुए अवैध रूप से भारत में रह रहे हैं. इसके लिए उन्होंने अमेरिका में एक फर्जी विश्वविद्यालय में दाखिला लिया था. विदेश मंत्रालय का यह बयान नई दिल्ली में अमेरिकी दूतावास को ‘डिमार्शे’ जारी करने के कुछ दिनों बात यह बयान दिया है.

बता दें कि कुछ दिन पहले अमेरिकी अधिकारियों ने करीब 130 छात्रों को अवैध रूप से अमेरिका में रहने के लिए फर्जी विश्वविद्यालय में दाखिला लेने के आरोप में गिरफ्तार किया था. इनमें से 129 छात्र भारतीय हैं. अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में यह भी बताया है कि ‘यूनिवर्सिटी ऑफ फर्मिंग्टन’ नाम की फर्जी यूनिवर्सिटी में प्रवेश लेने वाले इन छात्रों का पता था कि इस विश्वविद्यालय में न कोई शिक्षक है और न ही यहां कक्षाएं संचालित होती है. छात्रों ने विश्वविद्यालय में दाखिला सिर्फ अमेरिका में रहने के लिया था.

गिरफ्तार किए सभी भारतीय छात्रों ने भारतीय राजनयिक से मदद मांगी थी, जिसके बाद भारतीय विदेश मंत्रालय ने इस मामले नई दिल्ली स्थित अमेरिकी दूतावास से जानकारी मांगी थी. गिरफ्तार किए गए कुछ छात्रों ने खुद को निर्दोष बताते हुए अमेरिका की संघीय सरकार पर आरोप लगाया था कि वह इस तरह के अभियान चलाकर उन्हें फंसा रही है. हालांकि, अगर इन छात्रों पर लगे आरोप अदालत में सिद्ध हो जाते हैं तो उन्हें पांच साल तक की सजा हो सकती है.

Rahul Gandhi on Priyanka Gandhi: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी बोले- यूपी ही नहीं प्रियंका गांधी को राष्ट्रीय स्तर की जिम्मेदारी भी मिलेगी

7th Pay Commission: बड़ी खबर! 19 महीने एरियर के साथ बढ़ी हुई सैलरी इस तारीख से मिलेगी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App