नई दिल्ली. भारतीय मूल के अमेरिकी अर्थशास्त्री और एमआईटी में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर अभिजीत बनर्जी, एस्थर डुफलो और माइकल क्रेमर को 2019 का इकोनॉमिक्स का नोबेल प्राइज मिला है. बता दें कि एस्थर डुफलो और अभिजीत बनर्जी पती-पत्नी हैं. इन्हें गरीबों में भी सबसे गरीब तबके को गरीबी से उबारने के लिए दिए गए मॉडल के लिए नोबेल प्राइज दिया गया है. वैश्विक गरीबी कम करने के प्रयास के लिए इन्हें नोबेल पुरस्कारों से नवाजने की खबर फैलते ही सोशल मीडिया पर बधाई संदेशों की बाढ़ आ गई है तो वहीं कई दिलचस्प मीम्स भी देखने को मिल रहे हैं.

बता दें कि अभिजीत बनर्जी कोलकाता के रहने वाले हैं. कोलकाता के प्रेसीडेंसी कॉलेज से ग्रेजुएशन करने के बाद उन्होंने दिल्ली के जवाहर लाल यूनिवर्सिटी से अर्थशास्त्र में एमए किया. इसके बाद पीएचडी करने हॉवर्ड चले गए. अभिजीत बनर्जी कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के आर्थिक सलाहकार भी रह चुके हैं. 

अभिजीत बनर्जी को नोबेल प्राइज दिए जाने की खबर से भारतीय फूले नहीं समा रहे हैं. अभीजित बनर्जी ने भले ही अमेरिका की नागरिकता ले ली हो लेकिन पैदा तो भारत में ही हुए थे. सोशल मीडिया पर लोग अलग-अलग ढंग से प्रतिक्रिया व्यक्त कर रहे हैं. आपको भी दिखाते हैं सोशल मीडिया पर अभिजीत बनर्जी को नोबेल दिए जाने का किस अंदाज में जश्न मनाया जा रहा है. 

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अभिजीत बनर्जी को बधाई दी

इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने भी अभिजीत बनर्जी को बधाई दी

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा- आज भारत के लिए बड़ा दिन

बीजेपी नेता मुकुल रॉय ने भी अभिजीत बनर्जी को ट्विटर पर बधाई दी है

इस मुबारक मौके पर एक सोशल मीडिया ने केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद को कुछ यूं याद किया है

एक यूजर ने JNU से पढ़े अभिजीत बनर्जी पर इसे बंद करने की मांग करने वालों पर तंज कसा है

ये भी पढ़ें Also Read:

 भारतीय मूल के अभिजीत बनर्जी को मिला अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार, जानें JNU से अमेरिका और नोबेल अवॉर्ड तक का सफर

भारतीय मूल के अमेरिकी अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी को पत्नी एस्थर डफ्लो और सेंडिल मुल्लईनाथन के साथ अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार, गरीबी कम करने के मॉडल के लिए प्राइज