बाली. अंडरवर्ल्ड सरगना छोटा राजन के डिपोर्टेशन की प्रक्रिया शुरू हो गई है. साथ ही भारत और इंडोनेशिया ने प्रत्यर्पण संधि को लागू करने की प्रक्रिया में भी तेजी ला दी है. सीबीआई और मुंबई पुलिस के अधिकारी उसे भारत लाने के लिए जाएंगे. उधर छोटा राजन ने भारत से अपने वकील को इंडोनेशिया बुलाया है. 
 
इंडोनेशिया में भारत के राजदूत गुरजीत सिंह ने कहा कि प्रत्यर्पण संधि और आपस में एक-दूसरे को कानूनी मदद देने की संधि पूरी हो चुकी है. उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी इंडोनेशिया में रविवार को औपचारिक रूप से पत्रों का आदान-प्रदान करेंगे. सिंह ने कहा कि राजन के डिपोर्टेशन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है लेकिन इसके लिए कोई डेडलाइन तय नहीं है. उन्होंने राजन के आत्मसमर्पण की खबरों को अटकलें और काल्पनिक बताया. राजन के वकील फ्रांसिको प्रसार ने अपने मुवक्किल से मुलाकात की लेकिन मीडिया से बातचीत में प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App