नई दिल्ली. अमेरिका ने अंतर्राष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता रिपोर्ट में भारत में बढ़ रही धार्मिक हत्याओं के लिए चिंता प्रकट की है. अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन कैरी ने रिपोर्ट में बताया है कि भारत में बढ़ रही धार्मिक हत्याओं, जबरदस्ती धर्म परिवर्तन कराना और लोगों की व्यक्तिगत धार्मिक आस्थाओं पर हमले से अमेरिका चिंतित है. 
 
इसके अलावा उन्होंने कहा कि कई मामलों में पुलिस सांप्रदायिक हिंसा से प्रभावी तरीके से निपटने में विफल रही है. इसमें अल्पसंख्यकों पर हमलों की घटनाएं भी शामिल हैं.
 
स्थानीय गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) ‘एक्ट नाउ फॉर हॉर्मनी एंड डेमोक्रेसी’ के अनुसार 2014 में मई से साल के अंत तक धर्म से प्रेरित हमलों की आठ सौ से अधिक घटनाएं हुईं हैं.
 
इससे पहले भारत दौरे आए हुए अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा था कि भारत में पिछले कुछ सालों में धार्मिक असहिष्णुता बढ़ी है. अगर आज गांधी जी होते, तो आहत होते. ओबामा ने भारत दौरे का जिक्र करते हुए कहा था कि भारत एक सुंदर देश है, लेकिन हाल के वर्षों में वहां सभी धर्म के लोगों पर एक-दूसरे के हमले बढ़े हैं. हाल ही में भारत दौरे पर आए बराक ओबामा ने टाउनहॉल में कहा था कि भारत तब तक तरक्की करेगा, जब तक धर्म के आधार पर नहीं बंटेगा.
 

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App