वाशिंगटन. इराक में आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट आईएस द्वारा नियंत्रित क्षेत्रों में फंसे लोगों के साथ ही देश में लगभग एक करोड़ लोगों को इस साल के अंत तक सहायता की जरुरत पड़ सकती है.  
 
संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने कहा कि इराक में पिछले साल जनवरी 2014 से अबतक लगभग 32 लाख लोग बेघर हो चुके हैं और साथ ही कई दूसरी जगहों की ओर पलायन कर चुके है. एक अनुमान के मुताबिक इराक में 86 लाख लोगों को मानवीय सहायता की जरूरत है.
 
समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, दुजारिक ने कहा, ‘पिछले साल से इराक में संकट बहुत गहरा गया है. इराक में स्वास्थय सेवाओं के ना मिल पाने के काऱण   हैजा जैसी कई अन्य गंभीर बीमारियों का प्रकोप बढ़ता जा रहा है. साथ ही इराक में अधिकतर स्थानों में सभी बुनायादी सेवाएं ठप्प हैं जिसके चलते लोगों के लिए खाने और पीने के पानी की आपूर्ति ठीक से नहीं हो पा रही है.’
 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App