इस्लामाबाद. पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कहा है कि कश्मीरी अलगाववादी नेता ‘तीसरा पक्ष’ नहीं हैं और भारत के साथ ऐसी कोई भी बातचीत प्रक्रिया निरर्थक होगी, जिसमें कश्मीर मुद्दा शामिल नहीं हो. शरीफ ने सोमवार को कैबिनेट की बैठक में कहा, कश्मीरी नेता तीसरा पक्ष नहीं हैं, बल्कि इस मसले का एक महत्वपूर्ण पक्ष हैं. उनके भविष्य के बारे में कोई फैसला उनकी राय और विचार-विमर्श के बिना नहीं हो सकता.
 
‘द डॉन’ की एक खबर के अनुसार शरीफ ने कैबिनेट से कहा कि बिना कश्मीर मुद्दे के भारत के साथ कोई भी बातचीत निरर्थक होगी. शरीफ की इस टिप्पणी के कुछ दिन पहले ही पाकिस्तान ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार स्तरीय वार्ता आखिरी वक्त में रद्द कर दी थी. भारत ने पाकिस्तान से यह प्रतिबद्धता जताने को कहा था कि वह कश्मीरी अलगाववादी नेताओं से मुलाकात नहीं करेगा. पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार सरताज अजीज ने शरीफ और कैबिनेट को वार्ता रद्द होने के संबंध में जानकारी दी। कैबिनेट ने देश की सुरक्षा स्थिति पर भी विचार-विमर्श किया.
एजेंसी