टेक्सास. अमेरिका के मैनहटन में 1 नवंबर को एक आतंकी हमले में 8 लोगों की मौत की घटना के बाद अमेरिका में एक और बड़ी घटना हो गई है. जिसमें अबतक 26 लोगों की मौत हो चुकी है. बताया जा रहा है कि अमेरिका के टेक्सास में चर्च के अंदर हुई गोलीबारी में कम से कम 26 लोगों के मारे जाने की खबर है, जबकि इस गोलीबारी कांड में 20 लोग घायल हुए हैं. अमेरिकी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक दक्षिण टेक्सास के एक बैप्टिस्ट चर्च में हुई गोलीबारी में हमलावर को मार गिराया गया है. 1 नवंबर को अमेरिका के मैनहटन आतंकी हमले के जिम्मेदारी आतंकी संगठन आईएसआईएस ने ली. इससे पहले भी दुनियाभर में कई जगहों पर आतंकी हमले हुए है जिसमें कई लोगों की जान गईं हैं.
 
सोमालिया की राजधानी मोगादिशू में आतंकी हमला, 23 की मौत
अभी दो दिन पहले 29 अक्टूबर को सोमालिया की राजधानी मोगादिशू के एक प्रसिद्ध होटल के बाहर भीषण आत्मघाती हमला हुआ था. इस हमले में 23 लोगों की मौत हो गई जबकि 30 लोग घायल हुए. यह हमला रविवार को शुरू होने वाली मंत्रिमंडल की उच्चस्तरीय बैठक से पहले नासाहाब्लोड 2 होटल के बाहर शनिवार रात को हुआ. शनिवार रात हुए इस हमले की जिम्मेदारी इस्लामिक ग्रुप अल शबाब ने ली.  
 
टेक्सास में एक घर में गोलीबारी, आठ लोगों की मौत
वहीं 11 सितंबर को अमेरिका के टेक्सास में एक घर में गोलीबारी में संदिग्ध समेत कम से कम आठ लोग मारे गए, उत्तरी टेक्सास पुलिस के अनुसार ये घटना रविवार की रात को घटी. गोलीबारी रात करीब 8 बजे हुई. प्लानो पुलिस के प्रवक्ता डेविड टिल्ले ने कहा कि जब पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचा तो अधिकारी का संदिग्ध शूटर का सामना हुआ. जिसके बाद संदिग्ध ने पुलिस अधिकारी पर गोलीबारी कर दी. जिसके बाद पुलिस अधिकारी ने भी गोलीबारी का जबाव दिया, जिसमें संदिग्ध की मौत हो गई.  
 
बार्सिलोना में आतंकी हमला, 13 लोगों की मौत
17 अगस्त को स्पेन के बार्सिलोना में आतंकी हमला हुआ था. एक वैन ने दर्जनों लोगों को कुचल दिया, जिसमें 13 लोगों की मौत हो गई और 100 से अधिक घायल बताए गए. इस आतंकी हमले के बाद पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए 4 आतंकियों को मार गिराया. पुलिस के मुताबिक, स्पेन में ही एक और हमले में एक पुलिस और 6 आम नागरिक बुरी तरह से जख्मी हुए हैं. पुलिस ने इसे आतंकी हमला करार दिया. 4 जून को लंदन में भारत-पाक मैच से पहले दो स्थानों पर आतंकी हमला हुआ. इस हमले में सात लोगों की मारे गए. वहीं सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को मार गिराया गया. इंग्लैंड की प्रधानमंत्री थेरेसा और अमेरिकी राष्ट्रपति ने हमले की कड़े शब्दों में निंदा की है.  21 अप्रैल को अफगानिस्तान के काबुल में आतंकी हमला हुआ. मजार-ए-शरीफ इलाके में मौजूद आर्मी हैडक्वाटर में तालिबानी आतंकियों ने हमला किया है जिसमें कम से कम 50 लोगों की मौत हो गई है. रॉयटर्स ने अमेरिकी सेना के प्रवक्ता के हवाले से कहा है कि करीब 50 लोग इस हमले में मारे गए हैं. 
 
तुर्की के इस्तांबुल में एक आतंकी हमले में 35 लोगों की मौत
इससे पहले 2017 के पहले दिन नए साल पर 1 जनवरी को तुर्की के इस्तांबुल में एक आतंकी हमले में 35 लोगों की मौत हो गई जबकि 40 अन्य के घायल हो गए थे. खबरों के अनुसार आतंकी सांता क्लॉज की ड्रेस पहनकर आए थे. आतंकियों ने क्लब में घुसते ही अंधाधुंध फायरिंग शुरु कर दी. इस फायरिंग में 35 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि 50 लोग घायल हो गए. शहर के रीना नाइटक्लब में नए साल की पार्टी के दौरान आतंकी हमला हुआ. क्लब में नए साल का जश्न मना रहे लोगों पर दो बंदूकधारियों ने अंधाधुंध फायरिंग शुरु कर दी.