यरुशलम: 4 जुलाई 2017 भारत और इजराइल के रिश्तों के लिए एतिहासिक दिन साबित होने वाला है क्योंकि 70 सालों में पहली बार भारत के प्रधानमंत्री इजराइल की यात्रा पर जा रहे हैं. पीएम मोदी की यात्रा को और यादगार बनाने के लिए इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू प्रोटोकॉल तोड़ते हुए खुद एयरपोर्ट पर उनकी आगवानी के लिए मौजूद होंगे. 
 
इससे पहले इजराइल में इस तरह की आगवानी या तो अमेरिका के राष्ट्रपति के लिए होती है या फिर ईसाईयों के सबसे बड़े धर्मगुरु पोप के लिए की जाती है लेकिन पीए मोदी के लिए भी इस बार इजराइल का ये नियम टूटने जा रहा है. 
 
पीएम की यात्रा से पहले ही दोनों देशों में खासी गर्मजोशी देखने को मिल रही है. पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा है मैं अपने दोस्त इजरायली पीएम नेतन्याहू के साथ बातचीत करने को लेकर उत्सुक हूं. वहीं इजराइल के सरकारी विभाग ने भी कहा कि किसी भी भारतीय पीएम का ये पहला इजराइल दौरा है, ऐसे में दोनों देशों के बीच कई अहम मामलों पर समझौते होने की उम्मीद है.
 
 
माना जा रहा है कि चार से छह जुलाई तक होने वाले पीएम मोदी के इस दौरे के दौरान दोनों देशों के बीच कई सामरिक और रणनीतिक महत्व वाले विषयों को लेकर समझौते होंगे. इसके अलावा साइबर सुरक्षा को लेकर दोनों देशों के बीच अहम करार हो सकता है क्योंकि इजराइल साइबर सुरक्षा के मामले में अन्य देशों के मुकाबले कहीं आगे है. 
 
 
इजराइल सरकार द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि दोनों देशों के बीच कई अहम साझेदारी की घोषणा होगी. साथ ही बिजनेस समुयायों की भी बैठक होगी. जानकारी के मुताबिक दोनों देशों के शीर्ष नेताओं के बीच करीब चार घंटे लंबी मुलाकात होगी जिसके बाद लंच का कार्यक्रम रखा गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App