अंकारा. इस्लामिक स्टेट के एक संदिग्ध आत्मघाती हमलावर ने तुर्की के सांस्कृतिक केन्द्र पर बम विस्फोट किया, जिससे 31 लोगों की जान चली गई. इस स्थान पर सामाजिक कार्यकर्ता सीरिया के कस्बे कोबेन में सहायता अभियान की तैयारियों के लिए जुटे थे. यह विस्फोट कोबेन की सीमा से लगे तुर्की के सूरक नगर स्थित केन्द्र में हुआ.

मारे गए लोगों में अधिकतर विश्वविद्यालय के छात्र थे और वे सीरिया में प्रवेश कर कोबेन के पुनर्निर्माण के मदद करने की योजना बना रहे थे. कोबेन पर महीनों तक इस्लामिक स्टेट का कब्जा था, हालांकि, जनवरी में कुर्दिश बलों ने फिर अपना कब्जा जमा लिया. उत्तरी साइप्रस के दौरे पर गए तुर्की के राष्ट्रपति आरटी एरडोगन ने हमले की भर्त्सना करते हुए इसे आतंकवादी कृत्य बताया.

प्रधानमंत्री अहमद देबूतोगलू ने इस्लामिक स्टेट को इस हमले के लिए दोषी ठहराते हुए कहा कि यह स्पष्ट रूप से आतंकवादी हमला है. उन्होंने अंकारा में कहा प्राथमिक जांच इस बात का संकेत करती है कि यह आत्मघाती हमला दाएश ने करवाया है. दाएश आईएस का अरबी में संक्षिप्त नाम है। हालांकि, प्रधानमंत्री ने कहा कि यह कोई अंतिम निष्कर्ष नहीं है.

एजेंसी

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App