उफा. भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को ब्रिक्स देशों (ब्राजील, रूस, भारत, चीन, दक्षिण अफ्रीका) में वार्षिक व्यापार मेले का प्रस्ताव रखा. मोदी ने सातवें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में कहा, ‘भारत को पहले ब्रिक्स व्यापार मेले की मेजबानी करने में खुशी होगी.’

ब्रिक्स देशों के बीच आर्थिक सहयोग को महत्त्वपूर्ण बताते हुए मोदी ने कहा कि ब्रिक्स देशों के बीच आपसी कौशल विकास, सीमा-शुल्क का प्रबंधन व्यापार को बढ़ावा देने का बड़ा कदम होगा. भारतीय प्रधानमंत्री ने ब्रिक्स के बीच समन्वय का प्रस्ताव रखा और कहा कि 100 अरब डॉलर का ब्रिक्स कंटीनजेंसी रिजर्व अरेंजमेंट अर्थव्यवस्था में स्थिरता लाने में मदद करेगा.

ब्रिक्स देशों की जनसंख्या करीब तीन अरब है, जो कि विश्व की जनसंख्या का 40 फीसदी हिस्सा है और इसकी संयुक्त सकल घरेलू उत्पादन (जीडीपी) 16,039 ट्रिलियन डॉलर है, जो कि विश्व की जीडीपी का 20 फीसदी हिस्सा है. रूस का बाशकोर्तोस्तान गणराज्य सातवें ब्रिक्स और 15वें शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की शिखर बैठक का आयोजन कर रहा है.

IANS