नई दिल्ली : इस्तांबुल में नए साल के जश्न के रंग में भंग उस समय पड़ गई जब रविवार को एक “आतंकी” हमले में 35 लोगों की मौत हो गई जबकि 40 अन्य के घायल होने की खबर है. खबरों के अनुसार आतंकी सांता क्लॉज की ड्रेस पहनकर आए थे. आतंकियों ने क्लब में घुसते ही अंधाधुंध फायरिंग शुरु कर दी. इस फायरिंग में 35 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि 50 लोग घायल हो गए.  
 
तुर्की के सबसे बड़े शहर इस्तांबुल में नए साल के जश्न के दौरान एक क्लब में आतंकियों ने फायरिंग की. इस फायरिंग में फिलहाल 35 लोगों के मारे जाने की खबर है. वहीं 50 लोगों घायल हैं. एक समाचार एजेंसी के अनुसार शहर के रीना नाइटक्लब में नए साल की पार्टी के दौरान आतंकी हमला हुआ. क्लब में नए साल का जश्न मना रहे लोगों पर दो बंदूकधारियों ने अंधाधुंध फायरिंग शुरु कर दी. हमलावर ‘आतंकी’ सांता क्लॉज के ड्रेस में आए थे. स्थानीय पुलिस सूत्रों के अनुसार हमला रात करीब 1 बजे हुआ. इस्तांबुल के गवर्नर वासिप साहिन ने मीडिया को बताया कि इस हादसे में कुल 35 लोगों की मौत हो गई. मरने वालों में एक पुलिस जवान भी शामिल है. हमले के वक्त क्लब समें 700 से 800 लोग मौजूद थे. उन्होंने इस हमले को चरमपंथी हमला बताया है.
 

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर