बीजिंग/नई दिल्ली. चीन ने हाल ही में सुपरसोनिक न्यूक्लियर डिलिवरी व्हीकल के सफलतापूर्वक परीक्षण की पुष्टि की है. इससे अमेरिका समेत दुनिया भर के देश दहशत में हैं.

दरअसल इसके लिए जिस एडवांस मैकनिज्म का प्रयोग किया गया है, वह रुस और अमेरिका से भी ज्यादा एडवांस है इसलिए  चीन के इस कदम को अमेरिका ने ‘पैंतरा’ बताते हुए सैन्य अभ्यास की हद करार दिया.

ये  व्हीकल एक बेहद उच्च तकनीक वाला हथियार है, जो अमेरिकी मिसाइल से बच निकलने में सक्षम है और ध्वनि की गति से 10 गुना तेज है. इस परीक्षण को अमेरिका ने डब्ल्यूयू-14 का नाम दिया है. पीपुल्स लिबरेशन आर्मी का बीते 18 महीनों में ये चौथा परीक्षण है.

(वीडियो में देखिए क्या कर सकता है चीन का सुपरसोनिक न्यूक्लियर डिलिवरी व्हीकल…)

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App