न्यूयार्क. दुनिया का सबसे पॉवरफुल देश अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव अपने अंतिम चरण तक पहुंच गया है. पूरे विश्व में इसी को लेकर चर्चा हो रही है कि चुनाव के दो ताकतवार उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन और डोनाल्ड ट्रंप में से किसकी जीत होगी और किसकी हार.
 
इस चुनाव के माहौल में सबसे दिलचस्प बात यह सामने आई है कि इस चुनाव की हवा अंतरिक्ष में भी दिखाई दी  है इंटरनेशनल स्‍पेस स्‍टेशन से यूएस एस्ट्रोनॉट शेन किमब्रो ने इस चुनाव के लिए अपना पहला वोट डाला. रिपोर्ट्स के मुताबिक मियामी अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के लिए कुछ समय पहले मतदान शुरू हो गया. इस चुनाव पर दुनियाभर की निगाहें लगी हुई हैं. इस चुाव में वोट डालने वाले वह पहले मतदाता है.
 
ये कोई पहली बार नहीं हो रहा कि कोई एस्ट्रोनॉट ने वोट डाला है. इससे पहले 1997 में पहली बार अंतरिक्ष स्टेशन से वोट डाला गया था. इस दौरान डेविड वोल्फ ने रूसी मीर स्पेस स्टेशन से अपना वोट डाला था, लेकिन अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के लिए वर्ष 2004 लियोरे शियाओ ने आईएसएस से अपना वोट डाला था. शेन भी अब इसी परंपरा को निभाई.
 
 
शेन इस वर्ष 19 अक्टूबर को चार माह के मिशन के लिए इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन पहुंचे थे. उनके साथ वहां जाने वाले दो रूसी अंतरिक्ष यात्री भी थे. आईएसएस से वोट देने की परंपरा काफी पुरानी है. अमेरिका के ह्यूस्टन में ज्यादातर एस्ट्रोनेट्स रहते हैं. यहां पर ही नासा का मिशन कंट्रोल सेंटर जॉनसन स्पेस सेंटर भी है. धरती से मीलों दूर आईएसएस हर वक्त पृथ्वी के चक्कर लगाता रहता है.
 
वहां से ईमेल, इलेक्ट्रानिक बैलेट के जरिए मतदान करने की सुविधा है. इसके लिए ग्लेवस्टॉन कंट्री क्लर्क ऑफिस को नासा के जॉनसन स्पेस सेंटर की तरफ से एक ईमेल भेजा जाता है और वोटिंग की जानकारी दी जाती है. 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर