वाशिंगटन. अमेरिका में हो रहे राष्ट्रपति चुनाव की चर्चा दुनिया भर में सुर्खियां बनी हुईं हैं. राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार हिलेरी और ट्रंप भी पिछले कई दिनों से देश-विदेश के अखबारों की हेडलाइन्स में छाए हैं. इसके साथ ही राष्ट्रपति के इस चुनाव की प्रकिया भी काफी दिलचस्प है. क्या आपको पता है इस चुनाव के लिए मंगलवार का ही दिन क्यों चुना गया है.
 
हर लोकतांत्रिक देश में चुनाव की एक अलग प्रक्रिया और परंपरा भी होती है. चुनाव कब, कैसे और कहां होगा इसका फैसला उसी देश को ही लेना होता है. अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के लिए मंगलवार का  एक खास महत्व है. पिछले 150 सालों से अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव इसी दिन हो रहा है.
 
अमेरिकी में राष्ट्रपति चुनाव चार साल में एक बार होता है और यह चुनाव हर बार नवंबर से पहले सोमवार के बाद मंगलवार को ही होता हैं और यह प्रक्रिया कोई नई नहीं 19वीं शताब्दी से होती चली आ रही है.
 
यह है वजह 
राष्ट्रपति चुनाव के लिए मंगलवार के दिन कराने का फैसला साल 1845 को किया गया था. तभी से यह परंपरा के तौर पर चला आ रहा है.  चुनाव के लिए रविवार का दिन इसलिए नहीं चुना गया ताकि दूर से आ रहे लोगों का समय पूरे दिन आवाजाही में खराब न हो और सभी लोग रविवार को चर्च जा सकें. इसके अलावा सोमवार के दिन को चुनाव के लिए इसलिए नहीं चुना गया ताकि आवाजाही में लोगों का समय व्यर्थ न हो. इसके साथ ही अधिक से अधिक लोग अपने पसंदीदा उम्मीदवार को वोट दे सकें. इसलिए अमेरिकी सरकार हर बार मंगलवार को ही चुनाव कराती है.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर