​गिलगित. पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में स्थानीय लोग आतंकी कैंपों की ज्यादतियों से परेशान होकर सड़कों पर उतर आए हैं. गुरुवार को पीओके के कई हिस्सों में स्थानीय नेताओं और निवासियों ने विरोध प्रदर्शन किया. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
प्रदर्शनकारियों का कहना है कि इन इलाकों में आतंकी कैंप धीर-धीरे बढ़ते जा रहे हैं. इनके कारण स्थानीय लोगों का जीवन नर्क हो गया है. लोग पाकिस्तान सरकार और सुरक्षा बलों से इन आतंकी शिविरों को खत्म करने की मांग कर रहे हैं. 
 
पाकिस्तान करता रहा है इनकार 
गिलगित के ​एक निवासी ने कहा कि अगर सरकार डायमर, गिलगित, बसीन और अन्य जगहों से इन आतंकी शिविरों को नहीं हटा सकती है, तो हमें खुद ही कोई कदम उठाना होगा.’ वहीं एक और प्रदर्शनकारी ने बताया कि मुजफ्फराबाद में आतंकियों के खाने-पीने का इंतजाम भी किया जा रहा है. 
 
यह विरोध प्रदर्शन पीओके के मुजफ्फराबाद, कोटली, चिनारी, मीरपुर, गिलगित, डायमर व नीलम घाटी के इलाकों में किया गया. पाकिस्तान हमेशा से आतंकियों को पनाह देने के आरोपों से मुकरता आया है पर पीओके के लोगों का प्रदर्शन उसकी सच्चाई दिखाई रहा है.