इस्लामाबाद. सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने बुधवार को संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि हम कश्मीर मुद्दे का हल चाहते हैं. जब तक कश्मीर का मसला हल नहीं हो जाता, तब तक पाकिस्तान और भारत के बीच अमन कायम नहीं हो पाएगा. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
नवाज शरीफ ने संसद में हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी को हीरो बताया. नवाज ने कहा कि कश्मीरियों के दिल में आजादी की तड़प है. वो भारत से अलग होना चाहते हैं. इस बात का सबूत वो हर रोज देते हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि सियासी कश्मीरी कैदियों को रिहा किए जाएं. विश्व शक्तियों को यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कश्मीर पर संयुक्त राष्ट्र का रेजॉल्यूशन लागू हो सके.
 
 
‘उरी हमले पर पाक पर इल्जाम लगा रहा है भारत’
पाकिस्तानी पीएम ने कहा कि भारत उरी आतंकी हमले के लिए पाकिस्तान पर इल्जाम लगा रहा है. भारत ने बिना सबूत के और केवल में छह घंटे में हम पर आरोप लगा दिया. पाकिस्तान खुले दिल से उरी अटैक की अंतरराष्ट्रीय स्तर की जांच का सुझाव देता है.
 
 
‘भूखमरी का मुकाबला बारुद से  नहीं किया जा सकता’
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पाकिस्तानी आवाम को संबोधित करने पर  नवाज ने जवाब देते हुए कहा कि भूखमरी और  बेरोजगारी का मुकाबला बारुद से कभी नहीं किया जा सकता. जिन खेतों पर हमेशा बारुद बोया जा रहा है उसमें रोजगार कभी नहीं पैदा किया जा सकता. खून, बारूद और आग से हम गरीबी नहीं मिटा सकते. पाकिस्तान आतंकवाद से सबसे अधिक पीड़ित है.
 
 
‘पाकिस्तान की सुरक्षा के लिए हम एक हैं’
नवाज शरीफ ने भारत की सर्जिकल ऑपरेशन को नकारते हुए कहा कि पाकिस्तान की सुरक्षा के लिए हम एक हैं और हमेशा तैयार हैं. लेकिन हम जंग के खिलाफ हैं और कश्मीर सहित सभी मसले अमन से हल करना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि भारत ने एलओसी से गोलीबारी की, इस गोलाबारी में हमारे दो सैनिक मारे गए.