इस्लामाबाद. पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ के सलाहकार सरताज अजीज़ ने कहा है कि भारत सिंधु जल संंधि से एकतरफा बाहर नहीं आ सकता. उरी हमले के बाद भारत सरकार की तरफ से सिंधु जल समझौते को तोड़ने की खबरें आ रही थीं. सरताज अजीज का ये बयान इसी खबर के संदर्भ में था. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
अजीज यही नहीं रुके, उन्होंने कहा कि- अगर भारत समझौते को रद्द करता है तो पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय न्यायालय तक इस मुद्दे को लेकर जाएगा. पाक मीडिया को बयान देते हुए अजीज का कहना है कि सिंधु जल समझौता कारगिल और सियाचिन युद्ध के समय भी रद्द नहीं किया गया था. 
 
बता दें कि  सिंधु जल समझौता भारत और पाकिस्तान के बीच 1960 में हुआ था. हाल ही में जम्मू कश्मीर के उरी जिले में आतंकवादियों द्वारा 18 सैनिकों की हत्या के बाद भारत सरकार ने सिंधु जल समझौते की समीक्षा के लिए मीटिंग की थी. इससे पाक सरकार को कड़ा संदेश दिया गया था कि भारत अब सीमापार से आतंकवाद को शांति से बर्दाश्त नहीं करेगा.