न्यूयॉर्क. होफ्स्ट्रा यूनिवर्सिटी में डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन और उनके रिपब्लिकन प्रतिद्वंदी डोनाल्ड ट्रंप के बीच पहला प्रेजिडेंशियल डिबेट खत्म हो गया है. डिबेट के दौरान हिलेरी ने ट्रंप का मजाक उड़ाते हुए कहा कि जो आदमी एक ट्वीट पर आगबबूला हो जाता है वह राष्ट्रपति बनेगा तो क्या होगा. हिलेरी ने कहा कि ट्रंप जैसे शख्स को किसी भी कीमत पर राष्ट्रपति नहीं बनाया जाना चाहिए.

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
पहले मेगा डिबेट की शुरूआत ही आरोपों और खिंचाई के साथ हुई. सबसे पहले बोलते हुए हिलेरी ने कहा कि ट्रंप ने अपने अरबपति पिता से 40 मिलियन डॉलर का लोन लिया था और अपना कारोबार शुरू किया था. इसपर पलटवार करते हुए ट्रंप ने कहा कि वह एक छोटा सा लोन है था. उसी लोन से आज मैंने मेरी कंपनी बिलियन डॉलर में खेल रही है.
 
ट्रंप का ओबामा पर हमला
ट्रंप ने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा पर हमला बोलते हुए कहा कि अफ्रीकन अमेरिकी और हिस्पैनिक्स का अमेरिका में रहना नरक के समान है. ओबामा के राष्ट्रपति बनने के बाद शिकागो में पुलिस शूटिंह में 4000 लोग मारे गए हैं. ट्रंप ने आगे कहा शिकागो इसका प्रमाण है कि अमेरिका शूटिंग की कितनी बड़ी समस्या से जूझ रहा है. अमेरिका का शिकागो शहर युद्ध क्षेत्र नहीं है, लेकिन ओबामा के कार्यकाल में युद्ध क्षेत्र जैसा ही हो गया है. केवल 2015 में शिकागो में 2988 लोग पुलिस शूटिंग में मारे गए हैं.
 
जॉब में कमी के लिए टैक्स जिम्मेदार
डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिका में जॉब में आई कमी के लिए कॉर्पोरेट टैक्स को जिम्मेदार बताया. उन्होंने कहा कि अमेरिका में जॉब कम हो रहे हैं और हमसे जॉब छीने जा रहे हैं. इसके लिए करों में कटौती जरूरी. हमें कर को कम करना होगा इससे कई नई कंपनियां खुलेंगी और पुरानी कंपनियां बाजार में वापस भी आएंगी, जिससे जॉब की समस्या दूर होगी. वहीं हिलेरी ने ट्रंप पर टैक्स छिपाने का आरोप लगाया और कहा कि ट्रंप अपनी दुनिया में मस्त में हैं.
 
ट्रंप भरोसा के लायक नहीं- हिलेरी
हिलेरी ने डिबेट के आखिरी समय में ट्रंप पर जोरदार हमला करते हुए दर्शकों से कहा कि ट्रंप महिलाओं का सम्मान नहीं करते. देश के परमाणु हथियारों के साथ उनपर भरोसा करना मुश्किल है. वह किसी भी वक्त कुछ भी कर सकते हैं. 
 
ISIS पर तनातनी
ट्रंप ने हिलेरी को निशाने पर लेते हुए कहा कि हिलेरी ने अपनी बेवसाइट पर आईआईएस के खात्मे की योजना बना रखी है, जो कि अमेरिका का दुश्मन है. इस पर तुरंत पलटवार करते हुए हिलेरी ने कहा, अच्छा है, कम से कम मेरे पास आईएसआईएस से लड़ने की योजना तो है.
 
अर्थव्यवस्था
हिलेरी ने डिबेट के दौरान कहा कि अमेरिका को एक ऐसी अर्थव्यवस्था बनाने की जरूरत है जो सभी वर्ग के लिए हो. ट्रंप के पास अर्थव्यवस्था के लिए जो प्लान है उससे देश का कर्ज $5,000,000,000,000 बढ़ जाएगा. इसपर तुरंत हमलावर रुख अपनाते हुए ट्रंप ने कहा कि हिलेरी और ओबामा की नीतियों ने पिछले 8 सालों में अमेरिका का कर्ज 9 ट्रिलियन तक बढ़ा दिया है यानी कर्ज को दोगुना कर दिया है.
 
26 सितम्बर 1960 को पहली डिबेट
इससे पहले 26 सितम्बर 1960 में राष्ट्रपति पद के उम्मीदवारों के बीच पहली डिबेट हुई थी, जिसमें जॉन एफ़ कैनेडी और हेनरी किसिंजर आमने सामने थे. उसके बाद 1980 में डेमोक्रेट राष्ट्रपति जिमी कार्टर और रिपब्लिकन रोनाल्ड रीगन के बीच बहस हुई थी जिसे आठ करोड़ लोगों ने देखा था.