नई दिल्ली. 71वीं संयुक्त राष्ट्र आम सभा में  पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने अपने भाषण  की शुरुआत कर दी है. नवाज शरीफ ने UN में कश्मीरी कार्ड खेला है और बुरहान वानी को कश्मीरियों का युवा नेता बताया है. नवाज शरीफ ने 16 मिनट के भाषण में 8 मिनट तक कश्मीर का राग अलापा है. नवाज ने कहा कि बुरहान वानी, जो कि एक युवा नेता था, उसे भारतीय सेना ने मार डाला.  बुरहान वानी कश्मीर की आवाज है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
नवाज ने कहा कि पाकिस्तान कश्मीर में भारत की बर्बरता बयां करती फाइलें यूएन महासचिव को सौंपेगा. हम कश्मीर में एक्स्ट्रा जुडिशल किलिंग्स की स्वतंत्र जांच की मांग करते हैं. कश्मीर के आदमी, औरत और बच्चे आजादी की मांग कर रहे हैं. पाकिस्तान उनकी इस मांग का समर्थन करता है. मैं कश्मीर में हो रही हत्याओं की जांच के लिए एक स्वतंत्र जांच की मांग करता हूं. 
 
उन्होंने कहा कि जब तक कश्मीर का मुद्दा न निपट जाए, भारत और पाकिस्तान पूरी तरह से शांति हासिल नहीं कर पाएंगे. कश्मीर में भारत की बर्बरता 2 महीनों से लगातार चल रही है. यूएन भारत से कहे कि वह कश्मीर पर अपने वादे पूरे करे. 
 
उन्होंने आगे कहा कि जब तक कश्मीर का मुद्दा न निपट जाए, भारत और पाकिस्तान पूरी तरह से शांति हासिल नहीं कर पाएंगे. कश्मीर की नई पीढ़ी भारत के कश्मीर पर अनाधिकृत कब्जे के खिलाफ आवाज उठा रही है. हम कश्मीर में कर्फ्यू खत्म करने की मांग करते हैं. नवाज ने कहा कि भारत ने बातचीत करने से पहले अस्वीकार्य शर्तों को रखीं, बातचीत पाकिस्तान के पक्ष में नहीं बल्कि दोनों देशों की रुचि के हिसाब से होनी चाहिए.
 
नवाज शरीफ ने कहा कि भारत को फिर बातचीत का ऑफर देते हैं कि हम बात ताकि सारी समस्याओं को हल किया जा सके. हम न्यूक्लियर टेस्ट बैन ट्रीटी पर बात करने के लिए तैयार हैं. NSG (न्यूक्लियर सप्लायर्स ग्रुप) की सदस्यता के लिए पाकिस्तान पूरी तरह योग्य है.