रियाद. सऊदी अरब में ब्रिटेन के राजदूत साइमन पॉल कॉलिस ने इस साल इस्लाम में धर्मांतरण करने के बाद अपनी हज यात्रा पूरी की है. वह पहले ऐसे ब्रिटिश राजदूत हैं, जिसने हज यात्रा पूरी की. सऊदी लेखक फौजिया अल-बक्र ने उनकी यह तस्वीर ट्विट पर पोस्ट की है और अरबी भाषा में लिखा है कि इस्लाम अपनाने के बाद पहली हज यात्रा पूरी करने वाले ब्रिटिश राजदूत साइमन कॉलिस. अपनी पत्नी के हुदा कॉलिस के साथ मक्का में साइमन.

 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
फौजिया के इस ट्वीट पर थैंक्स देते हुए साइमन ने इस बात का खुलासा किया कि उन्होंने 2011 में शादी से कुछ दिनों पहले ही इस्लाम कबूल कर लिया था. साइमन ने भी अरबी में ही ट्वीट करते हुए लिखा कि करीब 30 साल तक मुस्लिम कल्चर के बीच रहने के बाद अपनी शादी से कुछ वक्त पहले ही मैंने इस्लाम को कबूल कर लिया था. उनके इस ट्वीट पर लोगों ने साइमन और उनकी पत्नी को हज यात्रा पूरी करने पर बधाइयां दीं. इस पर साइमन ने जवाब दिया कि धन्यवाद और ईद मुबारक.

 
बता दें कि साइमन कॉलिस 2015 से सऊदी अरब में ब्रिटेन के राजदूत हैं. इससे पहले वह भारत, ट्यूनीशिया, इराक, यमन, कतर, सीरिया और यूएई में ब्रिटेन के राजूदत रह चुके हैं. इस्लाम के पांच मुख्य स्तंभों में से एक हज यात्रा को माना जाता है. बताया जाता है कि इस्लाम के अनुयायी को जीवन में एक बार हज यात्रा जरूर करनी चाहिए. हर साल हज यात्रा का आयोजन 9 से 14 सितंबर तक होता है. इस साल दुनिया भर से करीब 18 लाख लोग हज यात्रा के लिए सऊदी अरब पहुंचे हैं.