ब्राजीलिया: ब्राजील की पहली महिला राष्ट्रपति दिल्मा राउसेफ की 13 साल की सरकार गिर गई. दिल्मा राउसेफ महाभियोग के प्रस्ताव पर हुए मतदान में 61-20 से पराजित हो गईं. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
भ्रष्टाचार के आरोप में ब्राजील की राष्ट्रपति दिल्मा राउसेफ को संसद ने प्रस्ताव पास करके पद से हटा दिया है. राउसेफ पर संघीय बजट के अपने प्रबंधन में वित्तीय कानूनों को तोड़ने का आरोप है.
 
राउसेफ के केस की सुनवाई की अध्यक्षता करने वाले मुख्य न्यायाधीश रिकाडरे लेवांडोव्सकी ने कहा, ‘सीनेट ने पाया कि ब्राजील के संघीय गणतंत्र की राष्ट्रपति दिल्मा वाना राउसेफ ने वित्तीय कानूनों का उल्लंघन कर अपराध किया है.’ उधर राउसेफ ने उन्हें उनके पद से हटाने के लिए किए गए मतदान को संसदीय तख्तापलट करार दिया है. 
 
उन्होंने कहा, ‘‘उन्होंने राष्ट्रपति के जनादेश में बाधा डालने का फैसला किया है जिन्होंने कोई अपराध नहीं किया है. उन्होंने एक निर्दोष इंसान को दोषी ठहराया है और संसदीय तख्तापलट किया है.’’ 
 
ब्राजील के वाइस प्रेसिडेंट और राउसेफ के कट्टर विरोधी माइकल टेमर को आज बाद में उनके स्थान पर राष्ट्रपति की शपथ दिलाई जा सकती है.