रियाद. मुस्लिमों के सबसे पवित्र शहर मक्का मदीना (Makka Madina) सऊदी अरेबिया के हज का शहर है. या यू कहें पवित्र मुस्लिम तीर्थस्थल में शरिया नियमों के अनुसार सेक्स शॉप खुलने जा रही है. जिसमें सिर्फ हलाल प्रोडक्ट ही मिलेंगे सबसे खास बात है यह है कि सऊदी सरकार ने इसकी इजाजत दे दी है.
 
नख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
रिपोर्ट्स के मुताबिक एम्स्टरडम की इरोटिक ब्रांड अल-एसीरा मक्का में अपनी चेन खोलने जा रही है, जहां हर साल लाखों मुसलमान हज करने आते हैं. इसको ध्यान में रखकर ये दुकान खोलने की सोची गई है. एल asira के संस्थापक Abdelaziz Aouragh ने पिछले साल अपनी महत्वाकांक्षा जाहिर की थी और अब इनका सपना पूरा होने जा रहा है जिसकी जानकारी उन्होंने मोरक्को आधारित वेबसाइट Alyaoum24 को दी.
 
रिपोर्ट्स के मुताबिक कंपनी के मालिक ने वेबसाइट को बताया कि व्यापार को ध्यान में रखकर वहां के स्थानीय मुस्लिम मौलवियों और सऊदी शेखों से परामर्श भी लिया गया है और उन्हें यह विश्वास दिलाया गया है कि वहां के नियम, कानून के अंदर इसका व्यापार किया जाएगा. शॉप में सिर्फ हलाल प्रोडक्ट बेचे जाएंगे. हलाल होने के कारण इस्लामिक कानून इसके इस्तेमाल की इजाजत देता है.
 
इस ब्रैंड के संस्थापक ने AFP news एजेंसी को दिए इंटरव्यू को बाताया कि इस पवित्र जगह पर शॉप खोलेन का यह बिलकुल मतलब नहीं है कि सेक्स टॉय या किसी दूसरे प्रकार के प्रोडक्ट को बढ़ावा देंगे. और न ही यहां के वातावरण में वासना या किसी गलत अवधारणा को बढ़ावा देना. हमारा एकमात्र उद्देशय है इसको लेकर लोगों के अंदर गलत अवधारणा को बदलना , सेक्स को लेकर जागरुक बनाना.
 
ऑरग ने बताया कि हमारे उत्पादों में ब्लो-अप डॉल्स या वायब्रेटर शामिल नहीं है. उन्होंने कहा कि यह सेक्स गतिविधि को बढ़ावा देने के लिए नहीं है. उन्होंने दावा किया कि उनके सभी उत्पाद शरिया के नियमों के पालन करते हैं. साथ ही यह सेक्शुअलिटी, सेंशुअलिटी और स्प्रिचुअलिटी को गहरा करते हैं. एक तरफ जहां सऊदी अरब में महिलाओं पर कई तरह के प्रतिबंध हैं और इस्लामिक कोड में उनके व्यवहार और कपड़ों को जिक्र है. इस संबंध में ऑगर कहते हैं कि हमारा प्रयास महिलाओं के प्रति प्यार और प्रशंसा से शादीशुदा जिंदगी को खुशनुमा और शानदार बनाना है.
 
ऑरग ने अपने बैंड को लेकर कहा कि वेबसाइट पर हमने शरीयत के अनुरूप शॉप के व्याख्या किया है. साथ ही सभी उत्पादों को मानवता, अखंडता का ख्याल रखा गया है. बता दें कि इस कंपनी को सबसे पहले 2010 में नीदरलैंड में शुरू की गई थी जो अपने कामुक उत्तेजक को बढ़ाने के लिए मशहूर था.